नजर ना लगे! राजकोट के इस गांव में अब तक कोरोना का एक भी केस नहीं!

प्रतिकात्मक तस्वीर

किसी को नहीं हैं इस गाँव में आने या गाँव से जाने की अनुमति, 100 प्रतिशत हो चुका है टीकाकरण

इस समय देश कोरोना वायरस के संक्रमण से जूझ रहा है। देश के अधिकांश राज्यों के अधिकांश अस्पतालों में बेड, वेंटिलेटर, ऑक्सीजन और जरुरी दवाओं की कमी है। कही कही तो स्थिति ऐसी है कि अस्पतालों में मरीजों के लिए जगह नहीं बची है और ऑक्सीजन की भारी कमी के कारण मरीजों का दम घुट रहा है। एक ओर जहाँ पूरा देश कोरोना वायरस की चपेट में है वहीं राजकोट के एक गाँव ने जागरूकता का एक सुंदर उदाहरण पेश किया है। इस गाँव से हर किसी को सीखने की जरूरत है। राजकोट के जसवंतपुर गाँव में अब तक एक भी कोरोना संक्रमित मामला सामने नहीं आया है।
इस बारे में बताते हुए गाँव के उपसरपंच बाबु भाई हिराणी ने कहा “बीते एक साल में हमारे गाँव में किसी की मौत (कुदरती या कोरोना से) नहीं हुई हैं।  इसके अलावा यहं कोई कोरोना से संक्रमित नहीं हुआ है।” आगे उन्होंने बताता कि सात सौ जितनी जनसँख्या वाला यह गाँव बीते एक साल से कोई भी सार्वजनिक उत्सव या सामूहिक गोष्ठी नहीं कर रहा है। इसके अलावा इस गाँव में किसी भी बाहरी को आने की अनुमति नहीं हैं। इस गाँव की बेटियों को भी गाँव से बाहर जाने की अनुमति नहीं हैं। ऐसे में जो अपने ससुराल में है वो मायके नहीं जा सकती और जो मायके में है वो ससुराल नहीं जा सकती। चीजों और सब्जियों के बारे में उन्होंने बताया कि गाँव में एक साथ सब्जियां रिक्शे से आ जाती है और लोग वहीं से ले लेते हैं।
आपको बता दें कि इस गाँव में सौ प्रतिशत वैक्सीनेशन हो चुका हैं। साथ ही आशा कर्मचारी लक्ष्मी सोजिगा ने गाँव की महिलाओं और बच्चियों को वैक्सीन, सफाई और अन्य चीजों के बारे में जागरूक बना रखा है। इस गाँव में लोग साफ सफाई का खास ख्याल रखते है और घर घर में मास्क और सेनेटाईजर उपलब्ध कराया गया है और लोग उसका समझदारीपूर्वक उपयोग कर रहे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें