सूरत : सस्पेन्डेड लाइसेंस के साथ ड्राइविंग करते हुए पकड़े जाने पर स्थायी रूप से निलंबित कर दिया जाएगा : पुलिस आयुक्त

कोयला ट्रकों पर तिरपाल नहीं रखने वाले ट्रक चालकों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई के निर्देश

पुलिस आयुक्त अजय कुमार तोमर की अध्यक्षता में सूरत शहर सड़क सुरक्षा परिषद की बैठक

3 महीने के लिए लाइसेंस निलंबित के दौरान ड्राईविंग की तो स्थायी रुप से होगा लायसन्स सस्पेन्ड
सूरत शहर में दुर्घटनाओं की संख्या को कम करने के उद्देश्य से सूरत शहर के पुलिस आयुक्त अजय कुमार तोमर की अध्यक्षता में सूरत शहर सड़क सुरक्षा परिषद की बैठक आयुक्त कार्यालय के बैठक कक्ष में आयोजित की गई थी। पुलिस आयुक्त ने कहा कि जिन चालकों के लाइसेंस सस्पेंड किए गए हैं, अगर वे वाहन चलाते पकड़े गए तो उन्हें स्थायी रूप से निलंबित कर दिया जाएगा।
बैठक में पुलिस आयुक्त ने आने वाले वर्ष में घातक दुर्घटनाओं और मौतों की संख्या को कम करने की दृष्टि से एक रणनीतिक कार्य योजना तैयार करने का आह्वान किया। हाईवे पर कोयला ट्रकों पर तिरपाल नहीं रखने वाले ट्रक चालकों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। बैठक में अप्रैल माह में 97 और पिछले चार माह में 197 लाइसेंस निलंबित किए गए। ड्राइवरों के खिलाफ विभिन्न अपराधों के लिए पहले तीन महीनों के लिए चालक के लाइसेंस निलंबित कर दिए जाते हैं।
आयुक्त ने निलंबित चालकों के लाइसेंस स्थायी रूप से निलंबित करने का आदेश दिया था यदि वे वाहन चलाते पकड़े जाते है। 
बैठक में एक जागृत नागरिक द्वारा  मोटा वराछा कब्रिस्तान सर्कल में आरसीसी रोड के पास स्थित स्कूल था, ताकि छात्र दुर्घटना में शामिल न हों इस लिए वहा पर बम्प बनाने की मांग की गयी थी। नगर निगम के एक अधिकारी ने कहा कि भारी वाहनों के कारण। अधिकारी ने यह भी बताया कि सुदामा चौक पर, डिवाइडर रोड वरानी कॉम्प्लेक्स के साथ फायर स्टेशन की ओर और महादेव चौक से काशी विश्वनाथ मंदिर तफ़र तक सड़क पर जहां दुर्घटना की संभावना थी, वहां पर भी बम्प रखा गया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें