सूरत : कार में जला शव मिलने का भेद खुला, सच जानकर चौंक जायेंगे!

(Photo : IANS)

बीमा पास करवाकर कर्ज उतारने के लिए बनाया प्लान, एसओजी की टीम ने इस तरह दबोचा

सूरत शहर के कामरेज इलाके में से कार में से मिली हुई जली हुई लाश मिलने के मामले का एसओजी पुलिस ने पूरी घटना का पर्दाफाश कर दिया था। घटना के पीछे खुद हीरा व्यापारी का ही हाथ होने की बात सामने आई है। जहां अपना बीमा पास करवाने के लिए खुद हीरा व्यापारी ने ही किसी अनजान व्यक्ति का अपहरण कर उसको कार के साथ जला दिये होने की हकीकत पता चली है। 
धला गांव की सरहद में नहर में क्रिएटा कार के अंदर एक पूरी तरह से जली हुई लाश मिल आई थी। कार के नंबर के हिसाब से जब पुलिस ने जांच की तो वह कार सूरत के योगी चौक इलाके में रहने वाले हीरा व्यापारी विशाल लक्ष्मण गजेरा की होने की बात सामने आई। जिसके बाद हीरा व्यापारी के घर गई, तो हीरा व्यापारी पिछले कई दिनों से गुम होने की बात उनके सामने आई। इस बारे में जांच करने पर उन्हें पता चला कि सरथाना पुलिस में परिवारजनों द्वारा इस बारे में पहले से ही शिकायत भी दर्ज करवाई गई है। 
हालांकि कामरेज पुलिस के साथ इस जांच में जुड़े एसओजी पुलिस ने घटना के मूल तक पहुंची। जहां उन्हें पता चला की हीरा व्यापारी विशाल गजेरा राजकोट, अहमदाबाद और अंकलेश्वर में भागते फिरते होने की बात सामने आई थी। इसी दौरान एसओजी के हेड कॉन्स्टेबल रोहित बाबू भाई को जानकारी मिली कि शनिवार को विशाल वैलेंजा आने वाला था जिसके अनुसार पुलिस ने वॉच लगाकर विशाल को दबोच लिया था।
पूछताछ करने पर पता चला कि 1 साल पहले विशाल ने नया मकान लिया था जिसके लिए उन्होंने 37 लाख की लोन ली थी और उसमें से 17 लाख शेयर बाजार में इन्वेस्ट किए थे। हालांकि विशाल गजेरा को शेयर बाजार में काफी बड़ी नुकसान हुआ था। इसके बाद उन्होंने अपनी क्रेटा कार पर भी फिर से लोन लेकर उससे भी शेयर बाजार में निवेश कर दिया, जो फिर से डूब गए। विशाल के ऊपर कुल 21 लाख से भी अधिक का कर्ज हो गया था, जिसकी भरपाई करने के लिए उन्होंने बीमा पास करवाने के लिए यह षड्यंत्र किया था
पिछली 10 तारीख को घर से निकलकर विशाल ने अंकलेश्वर जीआईडीसी के बस स्टैंड के पास से एक अनजान व्यक्ति का अपहरण कर लिया और उसके हाथ पैर बांधकर ड्राइवर सीट के बगल में बिठा दिया था। जहां उसने अपने पूर्व आयोजित प्लान के अनुसार अनजान इंसान की पेट्रोल डालकर कार के साथ जला दिया था। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें