सूरत : डुमस घूम कर लौट रहा युगल ट्रक के पहियों में आ गया, सगाई को महीना भी नहीं हुआ था!

(Photo Credit : news18.com)

21 दिन पहले ही हुई थी सगाई, ट्रक को ओवरटेक करने के चक्कर में हुआ एक्सिडेंट

आए दिन सड़क दुर्घटना की कई घटनाएँ सामने आती है। सड़क पर होने वाली दुर्घटनाओं के कारण कई परिवारों के घर के चिराग उजड जाते है। आए दिन सड़कों पर बिना किसी नियंत्रण के गाड़ी चलाए जाने के कारण होने वाली इस तरह की घटनाओं के कारण पुलिस और प्रशासन भी काफी परेशान है। ऐसी ही एक घटना में डुमस  रोड पर एक युगल की ट्रक के पिछले पहिये में आ जाने के कारण उनकी मौत हो गई थी। दोनों की सगाई को अभी एक महिना भी पूरा नहीं हुआ था। 
इस घटना से दोनों परिवारों में मातम का माहौल फ़ेल गया है। जो परिवार उसकी शादी की तैयारी कर रहा था, उसे अब अंतिम संस्कार करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। महाराष्ट्र के नंदूरबार के अमलाद गांव के रहने वाले 25 वर्षीय पंकज महेंद्र साली अपने मंगेतर दिलीप सतपुत्र के साथ डुमस गए थे। 21 दिन पहले ही उनकी सगाई हुई थी और सूरत के उधना में रहने वाले अपने रिश्तेदारों के यहां आया था। जहां से वे डुमस घूमने आए थे। पंकज के साथ उसका छोटा भाई अक्षय और दो अन्य दोस्त भी थे। दोपहर करीब 3 बजे जब वह लौट रहे थे, तो ओएनजीसी के पास एक टीआरबी जवान को देख कर चालक ने अपनी गाड़ी ओएनजीसी ब्रिज के पास घुमाई थी। ब्रिज के पास से जब वह यू टर्न लेकर वह ब्रिज के नीचे से सूरत जाने के रास्ते निकले। तभी ओवरटेक करने के चक्कर में उसकी गाड़ी ट्रक के पिछले टायर में आ गई थी। जिसके चलते दोनों को काफी चोट आई थी। 
चोट आने के बाद साथ रहे दोस्तों ने उन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले गए थे। इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई। इस घटना से दोनों परिवारों में खुशी की जगह गम का माहौल फै गया था। मृतक के भाइयों ने पुलिस पर आरोप लगाया कि 108 को सूचना देने के बावजूद वह समय पर नहीं पहुंच सकी। जिस जगह एक्सिडेंट हुआ था, वहीं कुछ दूरी पर पुलिस की गाड़ी थी, पर पुलिस ने उनकी किसी भी तरह से मदद नहीं की। अंत में 10 से 15 मिनट के बाद एक निजी वाहन के माध्यम से अस्पताल पहुंचाया। पर अंत में देर से अस्पताल पहुँचने पर दोनों की मौत हो गई थी। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें