सूरत : व्याज के पैसे लेकर भागा बेटा, सूदखोरों ने पिता को किडनेप करके पीटा

चार जन के साथ मिलकर किया अपहरण; बुरी तरह से की पिटाई

राज्य में आए दिने सूदखोरों के आतंक के किस्से सामने आए हैं। व्याज नहीं देने पर पैसा लेने वाले को जाहीर मारने की या जान से मार देने की धमकी देकर पठानी तरीके से पैसे निकलवाने के किस्से सामने आते रहे हैं। ऐसा ही एक किस्सा सूरत में सामने आया हैं, जहां एक युवक जो की व्याज पर पैसे लेकर भाग गया तो सूदखोरों ने उसके पिता को किडनेप कर उसे बुरी तरह पीटा था। इस मामले में पीड़ित व्यक्ति ने अमरोली पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई थी। 
रिपोर्ट के अनुसार सुरत के वराछा इलाके में स्थित शालिग्राम अपार्टमेंट में हरजी बोरद नाम का व्यक्ति अपने परिवार के साथ रहता हैं। हरजी सूरत के अमरोली में आई अंजलि आस्था नाम की कंपनी में वॉचमैन की नौकरी करते हैं। हरजी को किर्ति नाम का एक पुत्र था। जहां आम तौर पर पिता अपने बुढ़ापे में पुत्र से सहारा बनने की उम्मीद करता हैं, वही यहाँ तो हरजी के लिए उसका पुत्र ही उसकी तकलीफ़ों का कारण बना था। किर्ति लोगों से व्याज पर पैसा ले लेता था और उन्हें वापिस नहीं लौटाता था। अपने पुत्र की इस आदत के चलते हरजी ने उसे अपने घर से निकाल दिया था और उसके साथ अपने सारे संबंध तोड़ दिये थे। अपनी इस निर्णय का ऐलान उन्होंने ने वर्तमानपत्र में भी किया था। 
6 महीने पहले किर्ति ने लिए थे जयसुख से पैसे 
6 महीने पहले किर्ति ने जयसुख नाम के व्यक्ति के पास से 3 लाख रुपए व्याज पर लिए थे। जिसके बाद उसने वह सारे पैसे मोज शोख में उड़ा दिये थे। खुद के पास पैसे ना होने के कारण किर्ति भाग गया। जिसके चलते जयसुख ने अपने पैसों की रिकवरी के लिए हरजी से पैसों की मांग की थी। चार लोगों के साथ मिलकर जयसुख ने हरजी का अपहरण किया था और उनसे उनके पैसे वापिस करने की मांग करते हुये उनकी पिटाई की थी। जिसके बाद उन्हों ने हरजी को कापोद्रा इलाके में उतार दिया था। पूरे मामले में हरजी ने अमरोली पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसके बाद पुलिस ने कुछ ही समय में 2 लोगों को हिरासत में लिया था, जबकि अन्य दो लोगों को ढूँढना शुरू किया हैं। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें