सूरत : बिल्डर के घर नौकर बनकर ५७ लाख की लूट मचाने वाले आरोपी को पुलिस ने नवसारी से हिरासत में लिया

बिल्डर से रुपये चोरी कर बिल्डर की ही साइकिल पर भारी रकम लेकर फरार होने के बाद पुलिस जाँच में लग गई थी

खुद को नौकर बताकर शहर के पोश इलाकों के घरों में नौकर के रूप में काम हासिल कर अपने मालिक के लाखों की नकदी व जेवर पर हाथ साफ कर चूना लगाने वाला हिस्ट्रीशीटर जयंती एक बार फिर एक्शन में दिखाई दिया. इस शातिर चोर ने बीस दिन पूर्व वेसू क्षेत्र में एक बिल्डर के यहां काम पर लगकर बुधवार को घर से 57 लाख रुपए नकद चुरा कर साइकिल से फरार हो गया। घटना के संबंध में वेसू हैप्पी एक्सीलेंसिया निवासी पीडि़त तरुण पुत्र अनिल शाह ने उमरा थाने में शिकायत दर्ज करवाई है।

 
इस मामले में मिली जानकारी के अनुसार तरुण ने अपनी बुजुर्ग दादी की देखभाल के लिए केयर टेकर के लिए बीस दिन पूर्व अपनी पहचान जयंतीलाल के रुपए देने वाले युवक को 14 हजार रुपए मासिक वेतन तय कर उसे दादी की देखभाल के लिए काम पर रख लिया और सर्वेन्ट्स रूम में उसके रहने का इंतजाम भी कर दिया। इस बीच बुधवार दोपहर वह घर से गायब हो गया। उसके बिना बताए गायब होने परजाँच करने पर तरुण के बैडरूम की अलमारी से 50 लाख रुपए व उसकी मां के कमरे से 7 लाख रुपए गायब मिले। तरुण ने अपार्टमेंट के सीसीटीवी फुटेज की पड़ताल की। सुबह नौ बजे से दस बजे के बीच जयंतीलाल साइकिल पर लॉन्ड्री का बैग लेकर बाहर जाते हुए नजर आया। बिल्डर से रुपये चोरी कर बिल्डर की ही साइकिल पर भगा था। और इस मामले में उसके गुजरात से भागने से पहले ही क्राइम ब्रांच ने पकड़ लिया और उसके पास से 27.15 लाख नकद बरामद किया।


घटना के बाद अपार्टमेंट के सीसीटीवी की जांच के बाद यह नौकर कुछ मिनट पहले उसी बिल्डर की साइकिल पर चोरी की नकदी के साथ एक बैग ले जाते देखा गया। व्यवसायी ने तुरंत पुलिस आयुक्त अजय तोमर से संपर्क किया और एक बार में 57 लाख की चोरी करने वाले चोर की सूचना क्राइम ब्रांच को दी। फोटो देखते ही क्राइम ब्रांच ने चोर को पहचान लिया। यह महाठग जयंती खेतमाल था। उसकी विशेषता यह थी कि वह चोरी करने के लिए अमीरों को घर का नौकर बन जाता था और मौका मिलते ही वह फ्लाइट या ट्रेन से भाग जाता था। यह अपने आलीशान आवासों के लिए भी कुख्यात था। इस पर पुलिस ने तरुण की प्राथमिकी के आधार पर उसे नामजद कर मामला दर्ज किया। क्राइम ब्रांच तुंरत हरकत में आई। उसकी ह्युमन व टेक्निकल सवेंलंस के जरिए उसकी लॉकेशन जुटाई। पुलिस ने उसे नवसारी रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार कर लिया। वह नवसारी से ट्रेन में जोधपुर भागने की फिराक में था। उसके कब्जे से 27.15 लाख रुपए बरामद हुए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें