सूरत : निकट भविष्य में सूरत जिले में ओपन जेल का निर्माण किया जाएगा : गृह राज्य मंत्री

गृहमंत्री ने जेल में व्यायामशाला और ई-फाइलिंग केंद्र का उद्घाटन किया

गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी ने लाजपोर सेंट्रल जेल का दौरा किया

गृह राज्य मंत्री  हर्ष संघवी और कृषि राज्य मंत्री  मुकेशभाई पटेल ने सोमवार को लाजपोर सेंट्रल जेल का दौराकर  जेल में गृह उद्योग से संबंधित विभिन्न गतिविधियां का निरीक्षण कर बंदियों से बातचीत की। इस अवसर पर कैदियों को संबोधित करते हुए गृह मंत्री ने कहा कि  निकट भविष्य में सूरत जिले में बंदियों के लिए सकारात्मक माहौल बनाने के लिए
ओपन जेल बनाया जाएगा।  राज्य की जेलों में बंद कैदियों को सप्ताह के दौरान अलग-अलग प्रकार का पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराने के लिए भोजन व्यवस्था की नई नीति तैयार किया जा रहा है।  कभी-कभी क्षणिक क्रोध में आकर व्यक्ति बड़ी भूल कर देता है। जेल में बंद आने के बाद से कई कैदियों के जीवन में भी भारी बदलाव आया है। जेल से बाहर आने के बाद शांति एवं सुरक्षा के साथ समाज के लोगों को नई चेतना देने का कार्य करने का अनुरोध किया। कारागार में बंदियों के शारीरिक एवं मानसिक विकास के लिए विभिन्न रचनात्मक गतिविधियाँ किया जाता है। कैदियों के लिए जेल में अपने पारंपरिक त्यौहारों को मनाने में सक्षम होने के लिए जेल प्रशासन की ओर से इंतजाम किए जा रहे हैं। इस अवसर पर  जेल के कैदियों द्वारा महज 18 घंटे के कम समय में बेहतरीन रास गरबा की कृति पेशकर सभी को चकित कर दिया। मंत्री ने कारागार में बंदियों के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए व्यायामशाला  और राज्य सरकार की पेपरलेस प्रणाली के माध्यम से सीधे उच्च न्यायालय में आवेदन के लिए नवनिर्मित ई-फाइलिंग केंद्र का उद्घाटन किया गया।
इस मौके पर गृह मंत्री और कृषि मंत्री मुकेश पटेल ने जेल में बंद कैदियों के लिए सुधारात्मक उपाय बताए, जैसे कि रेडियो प्रिजन, पुस्तकालय, कंप्यूटर कक्ष, भजिया हाउस  तथा कैदियों द्वारा चलाये जा रहे  हीरा कारखाने की गुणवत्ता का जायजा लेकर रचनात्मक सुझाव दिए। इस अवसर पर विधायक श्रीमती झंखनाबेन पटेल, जिला कलेक्टर आयुष ओक, जेल के अधिक पुलिस अधीक्षक महानिदेशक डॉ. के.एल.एन. राव, लाजपोर जेल अधीक्षक  मनोज निनामा, जिला भाजपा अध्यक्ष संदीप देसाई उपस्थित रहे। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें