सूरत : घूसखोरी का नया तरीका, महिला तलाटी ने खेत बिजली कनेक्शन के लिए मांगे 1 लाख

नीता पटेल, नरखड़ी ग्राम पंचायत, नर्मदा जिले की एक महिला तलाटी।

आंगडीया से गांधीनगर भेजे रिश्वत के पैसे, सूरत एसीबी ने छापा मारकर महिला तलाटी और निजी व्यक्ति को गिरफ्तार किया

सूरत एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने एक सरकारी अधिकारी को नए तरीके से रिश्वत लेते पकड़ा है। नर्मदा जिले के नरखडी ग्राम पंचायत की तलाटी नीता पटेल को जमीन मालिक से एक लाख रुपये की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया है। एसीबी से बचने के लिए महिला ने आंगडीया के जरिए गांधीनगर के एक व्यक्ति को रिश्वत के पैसे भेजे। इसकी जानकारी देते हुए जमीन मालिक ने सूरत एसीबी में जाल बिछाकर रिश्वत लेने वाली महिला अधिकारी व एक निजी व्यक्ति के खिलाफ रंगेहाथ कानूनी कार्रवाई की है।

सरकारी बाबू का घूस मांगने का नया तरीका


सरकारी दफ्तरों में आज भी आपको अपना काम करवाने के लिए सरकारी अधिकारियों को खुश करने के लिए रिश्वत देनी पड़ती है। लेकिन ये सरकारी बाबू भी अब हाईटेक हो गए हैं। सीधे रिश्वत लेते पकड़े जाने के डर से वे ठगी के हथकंडे अपना रहे हैं। सूरत एसीबी की एक टीम ने इसी तरह के नए तौर-तरीकों के साथ रिश्वत लेने वाली एक महिला सरकारी अधिकारी को गिरफ्तार किया है। सूरत एसीबी के जाल में नर्मदा जिले के नांदोद तालुक की नरखडी ग्राम पंचायत की तलाटी नीता पटेल फंस गई हैं।

निजी व्यक्ति महेश अमृतभाई आहजोलिया की गिरफ्तारी


नीता पटेल ने खेत में बिजली मीटर कनेक्शन और मकान नंबर दिलाने के लिए जमीन मालिक से एक लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी। तलाटी नीता पटेल ने रिश्वत के पैसे हाथ से लेने से इनकार कर दिया। उसने जमीन के मालिक से गांधीनगर में रहने वाले महेशभाई आहजोलिया नाम के व्यक्ति को आंगडिया के माध्यम से रिश्वत के रुपये भेजने को कहा। हालांकि जमीन मालिक रिश्वत की राशि का भुगतान नहीं करना चाहता था, इसलिए उसने सूरत एसीबी टीम से संपर्क किया और शिकायत दर्ज कराई। गुजरात में आंगडीया के माध्यम से त्राहित व्यक्ति को रिश्वत के रुपये पहुंचाने का यह अब तक का पहला मामला माना जा रहा है।

एसीबी के जाल में फंसी महिला तलाटी कर्मचारी


भूमि मालिक की कृषि भूमि नर्मदा जिले के नांदोद तालुक के नरखडी गांव में स्थित है। जो लोग भूमि के रख-रखाव और अन्य भूमि संबंधी कार्यों को सुन रहे हैं, उनके लिए इस कृषि भूमि का निर्माण शीट शेड रूम के साथ किया गया है ताकि मजदूरों को रखा जा सके और खेती के लिए उपयुक्त बीज, उर्वरक आदि डाल सकें। जिसमें नरखड़ी ग्राम पंचायत में मकान नंबर आवंटित करने और बिजली मीटर की आवश्यकता होने पर आवश्यक स्वीकृति प्राप्त करने के लिए आवेदन किया गया था। लेकिन, आवेदन आगे नहीं बढ़ा। इस कार्रवाई को आगे बढ़ाने के लिए नरखड़ी ग्राम पंचायत की तलाटी नीता पटेल ने जमीन मालिक से एक लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी।

पुलिस ने बिचौलिए को भी किया गिरफ्तार


आंगडीया के माध्यम से गांधीनगर में रहने वाले अज्ञात निजी व्यक्ति महेश अमृतभाई आहजोलिया को रिश्वत की मांग की गई राशि देने के लिए कहा गया, तो जमीन मालिक ने इसकी सूचना सूरत एसीबी टीम को दी। जमीन मालिक की शिकायत के मुताबिक एसीबी ने जाल बिछाया था। जिसमें गांधीनगर आंगड़िया से रिश्वत के पैसे लेने वाले महेश अाहजोलिया को रंगेहाथ गिरफ्तार किया गया। बाद में इसी के आधार पर नर्मदा जिले की महिला तलाटी से रिश्वत मांगने की पूरी चेन का पर्दाफाश करते हुए एसीबी ने एक लाख की रिश्वत मांगने और लेने के जुर्म में एक महिला सरकारी अधिकारी समेत एक निजी शख्स को गिरफ्तार किया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें