सूरत : जानें चालू वित्त वर्ष में पश्चिम रेलवे संभांग में कितने लोग बिना टिकट रेल यात्रा करते पकड़े गये!

(Photo : IANS)

कोरोना की दूसरी लहर समाप्त होने के बाद देश में बस, रेल और हवाई यातायात लगभग सामान्य हो गया था। लोग बेधड़क रेलवे में भी यात्रा कर रहे थे। यहां बेधड़क शब्द प्रयोग इसलिये किया गया है क्योंकि हम आपको बताना चाहते हैं कि पश्चिम रेलवे संभाग में ऐसे कितने यात्री थे जिनकी ‘बेधड़क’ यात्रा यानि बिना टिकट यात्रा या जिस श्रेणी का टिकट हो उससे अलग श्रेणी में यात्रा के लिये जुर्माना ठोका गया। 
जानकारी के अनुसार पश्चिम रेलवे के अधीन चालू वित्त वर्ष यानि 1 अप्रेल 2021 से 31 दिसंबर 2021 तक कुल 68 करोड़ रूपये बेधड़क यात्रा करने वालों से दंड स्वरूप वसूले गये। इनमें 11.76 लाख मामले बिना टिकट और निर्धारित श्रेणी से अलग में यात्रा करने से जुड़े थे। इसमें बिना बुकिंग के सामान का जुर्माना भी शामिल है। 
आपको यह भी जानना चाहिये कि इसी समयावधि में पश्चिम रेलवे में बिना मास्क ये यात्रा करने वाले यात्रियों से 41.09 लाख रुपये वसूले गये जिसमें 21.34 लाख रुपये अकेले मुंबई के उपनगरीय विभाग के थे। इसी समयावधि में रिजर्व टिकटों के ट्रांसफर के भी आठ मामले प्रकाश में आये जिसमें 12085 रुपये वसूले गये। इतना ही नहीं ट्रेनों में अनधिकृत रूप से बिक्री करने वाले 534 हॉकरों और 413 भिखारियों को भी पकड़ा गया जिनमें से 175 पर 60515 रुपये का जुर्माना ठोका गया और 359 लोगों पर मामले चलाकर 1.33 लाख रूपये दंड वसूला गया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें