सूरत : दक्षिण गुजरात में आंधी के साथ तेज बारिश, टूटे बिजली के खंभे, घुटने तक भरा पानी

सड़कों पर पानी भर गया

नवसारी जिले के कई इलाकों में भारी बारिश के साथ तेज हवाएं चलने लगी हैं, जिससे सड़कों पर घुटनों तक पानी भर गया है

मौसम विभाग ने अगले तीन दिनों तक दक्षिण गुजरात में भारी बारिश की संभावना जताई है। मौसम विभाग के मुताबिक डांग, वलसाड, तापी और सूरत में भारी बारिश की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग ने 25 से 26 जून तक दक्षिण गुजरात में भारी बारिश की संभावना जताई है। वहीं मेघराजा ने बुधवार को सूरत जिले में तूफानी बल्लेबाजी की है।  जिसमें बारडोली, पलसाना, उमरपाड़ा, महुवा में बारिश का मौसम देखने को मिल रहा है। हालाँकि, बुवाई लायक अच्छी बरसात होने से धरतीपुत्र खुश हैं।  
बुधवार को नवसारी जिले के कई इलाकों में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हुई है, जिससे सड़कों पर घुटनों तक पानी भर गया है। नवसारी, गणदेवी, चिखली में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हुई है।  
नवसारी जिले के खेरगाम तालुका में तेज हवाओं के कारण दोपहर में खेरगाम चार रास्ता में कुम्भरवाड़ा क्षेत्र में बिजली के खंभे और पेड़ गिर गए हैं
नवसारी जिले के खेरगाम तालुका में तेज हवाओं के कारण दोपहर में खेरगाम चार रास्ता में कुम्भरवाड़ा क्षेत्र में बिजली के खंभे और पेड़ गिर गए हैं। मुख्य सड़क पर गिरे बिजली के खंभे व पेड़ से वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ा और कई इलाकों में बिजली गुल हो गई।  क्षतिग्रस्त बिजली के खंभे की मरम्मत के लिए साउथ गुजरात पावर कंपनी के अधिकारी मौके पर पहुंच गए।  दूसरी ओर, ओलपाड तालुका के किम क्षेत्र में प्रकृति का कहर देखने को मिला। जहां महज 10 मिनट में तूफान ने कहर बरपाया  जिसमें कई घरों के पतरे उड़ गए हैं। बिजली के खंभे गिर गए हैं और पेड़ गिरने की कई घटनाएं हो चुकी हैं।  फिलहाल  किम इलाके में बिजली आपूर्ति ठप है।
मौसम विभाग ने अगले पांच दिनों तक दक्षिण गुजरात में भारी बारिश की संभावना जताई है। वलसाड जिले के धर्मपुर और आसपास के इलाकों में भारी बारिश की संभावना है। अन्य तालुकों में भी छिटपुट बौछारें पड़ने की संभावना है। दक्षिण गुजरात के डांग, वलसाड, तापी और सूरत में भारी बारिश का अनुमान है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें