सूरत : आगामी त्यौहारों को लेकर स्वास्थ्य विभाग सक्रिय, मोबाइल वैन के साथ नमूनों की कर रही जांच

दुकानों से नमूने लेते स्वास्थ्य अधिकारी

मोहन स्वीट्स समेत शहर भर की मिठाइयों की दुकानों का किया निरीक्षण

उत्सव प्रिय सूरतियों, त्योहार के दौरान करोड़ों रुपये की मिठाइयाँ गटक जाते हैं। सूरत के लोगों की स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने शहर के सभी जोनों की जानी-मानी मिठाई की दुकानों पर जाकर मावा व अन्य खाद्य सामग्री की जांच शुरू की। गांधीनगर से आई खाद्य एवं ड्रग टेस्टिंग वैन के साथ जांच शुरू की गई।
दिवाली त्योहार के साथ-साथ अन्य त्योहारों को देखते हुए सूरत में करोड़ों रुपये की मिठाइयां बिक रही हैं। इस भोजन को खाने से लोग अक्सर फूड प्वाइजनिंग सहित अन्य बीमारियों से ग्रस्त हो जाते हैं। अधिक पैसा कमाने के लालच में हलवाई कम गुणवत्ता वाले  मिठाइयाँ बनाते हैं जो उपभोक्ताओं के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। खाद्य एवं ड्रग विभाग, गांधीनगर द्वारा जो मोबाइल वैन टेस्टिंग के लिए आई है वह वैन सूरत आने पर   स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा विभिन्न जोन में ले जाया जा रहा है।
मनुपा के स्वास्थ्य अधिकारी साणुंके ने कहा कि गांधीनगर में खाद्य एवं ड्रग विभाग ने खाद्य परीक्षण के लिए मोबाइल वैन तैयार किया है, जिसमें सैंपल लेने के कुछ ही मिनटों में रिपोर्ट आ जाती है। ताकि कोई हलवाई का दुकानदार घटिया मावा या अन्य खाद्य सामग्री का उपयोग करता है तो उसका तुरंत पता चल जाए और हम उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर सकें और खाद्य सामग्री को नष्ट भी कर सकें। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें