सूरत : मकरसंक्रांति के दिन पतंग उड़ाते-उड़ाते आकाश में स्पेस स्टेशन देखने का अवसर मत चूकना

स्पेस स्टेशन की फाईल तस्वीर

इस बार की मकर संक्रांति पर एक और विशेष मौका गुजरात के लोगों को मिलने जा रहा है, आकाश में अंतरिक्ष में पृथ्वी के चक्कर लगाने वाले स्पेस स्टेशन को नरी आंखों से देखा जा सकेगा

सूरत, वड़ोदरा, हिम्मतनगर, राजकोट आदि शहरों के आकाश में ये स्पेस स्टेशन निरी आंखों से देखा जा सकेगा
14 जनवरी मकर संक्रांति गुजरात भर में पतंगोत्सव के विशेष दिन के रूप में प्रसिद्ध है। लोग दिन भर अपनी छतों पर रहकर पतंगबाजी का मजा लूटते हैं और पारंपरिक गुजराती व्यंजन उंधियु और चिक्की का स्वाद लेते हैं। लेकिन इस बार की मकर संक्रांति पर एक और विशेष मौका गुजरात के लोगों को मिलने जा रहा है। 
आपको बता दें कि मकर संक्रांति के दिन शाम के समय प्रदेश के विभिन्न शहरों के आकाश में अंतरिक्ष में पृथ्वी के चक्कर लगाने वाले स्पेस स्टेशन को नरी आंखों से देखा जा सकेगा। समाज में विज्ञान का प्रचार-प्रसार करने वाले गैर सरकारी संगठन भारत जन विज्ञान जाथा की ओर से एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि साडे़ चार लाख किलोग्राम वजनी अंतरिक्ष केंद्र (स्पेस स्टेशन) 28800 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पृथ्वी के इर्द-गिर्द चक्कर लगाता है। मकर संक्रांति के दिन स्पेस स्टेशन पृथ्वी के बिलकुल नजदीक से गुजरने की भौगोलिक घटना होने जा रही है। 
विज्ञप्ति के अनुसार प्रदेश के विभिन्न शहरों में आकाश में ये स्पेस स्टेशन निरी आंखों से देखा जा सकेगा। सूरत, वड़ोदरा, हिम्मतनगर, राजकोट आदि शहरों के मध्य आकाश में शाम को सात बजकर 35 से 37 मिनट के करीब स्पेस स्टेशन देखा जा सकेगा। वह एक लकीर नूमा आक़ृति के रूप में देखा जा सकेगा। स्पेस स्टेशन को देखने के लिये जाथा की ओर से प्रदेश के विभिन्न जिला केंद्रों पर विशेष व्यवस्था भी की गई है। इस संबंध में अंकलेश गोहिल, निर्भय जोशी, किशोरगिरी गोसाई, गौरांग कारिया, रूचिर कारिया, राजू यादव व अन्य प्रतिनिधि व्यवस्था में जुटे हैं। इस बाबत अधिक जानकारी जाथा के प्रदेश अध्यक्ष एडवॉकेट जयंत पंड्या का मो नं 98252 16689 पर संपर्क प्राप्त की जा सकती है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें