सूरत शहर उच्चत्तर माध्यमिक शिक्षा प्रदान करने वाला देश का पहला नगर निगम बना

सूरत नगर निगम द्वारा कक्षा 11 के वर्ग का महापौर हेमालीबेन बोघावाला ने शुभारंभ किया

सूरत महानगरपालिका आर्टस, कोमर्स और सायन्स संकाय मे गुजराती, मराठी और हिन्दी भाषा में उच्चत्तर माध्यमिक शिक्षा देने वाला देश का पहला नगर निगम बना

गुजराती में 10, मराठी में 11  और हिन्दी में 3 सहित कक्षा 11 के 24 वर्ग का शुभारंभ 
सूरत उच्चत्तर माध्यमिक विभाग की तीन भाषाओं में शिक्षा देनीवाली सूरत नगर निगम देश मे सबसे पहली नगर निगम बनी है। गुजराती, मराठी और हिन्दी भाषा के 24 वर्गो में 1562 छात्रों की शिक्षा का आज से शुभारंभ हुआ। सूरत नगर निगम द्वारा तीन भाषाओं में कक्षा 11 के छात्रों को शिक्षा देने का लिया गया फैसला मंगलवार  से लागू हो गया है। नगर प्राथमिक शिक्षा समिति के तहत उच्च माध्यमिक आर्टस, कोमर्स और विज्ञान संकाय की कक्षाएं शुरू की गई हैं। हायर सेकेंडरी के लिए इस वर्ष से कक्षा 11 के कुल 24 कक्षाएं शुरू की गई हैं। 
सूरत नगर निगम तीन भाषाओं में बच्चों को उच्च माध्यमिक शिक्षा प्रदान करने वाला देश का पहला निगम बन गया है। महापौर हेमालीबेन बोघावाला द्वारा मंगलवार को महानगरपालिका मुख्यालय के स्मेक सेन्टर से ऑनलाइन उद्घाटन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में हायर सेकेन्डरी स्कूल में प्रवेश पाने वाले सभी छात्र अपने अपने क्लास से ऑनलाईन जुडे जिसमें छात्रों के चेहरों पर खुशी देखी गई। नगर निगम द्वारा हाईयर सेकेन्डरी के वर्ग शुरू करने से सालाना करीब 12 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इस लागत को पूरा करने के लिए महानगरपालिका द्वारा शहर के विभिन्न उद्योगपतियों से आर्थिक मदद मांगी जाएगी। सूरत के जाने-माने कपड़ा उद्योगपति संजय सरावगी ने 10 लाख रुपये का दान देकर शुरूआत की है। साथ ही महानगरपालिका का ठेका पानेवाली, काम करनेवाली विभिन्न कंपन‌ियां, एजेन्सी, शहर की औद्योगिक इकाइयां सी.एस.आर. ( कंपनी सोश्यल रिस्पोन्सीबल) के फंड से मददरूप हो सकते है। औद्योगिक इकाइयों से जुड़े स्वयंसेवी संगठन उच्चतर माध्यमिक कक्षाओं को चलाने में आर्थिक सहयोग करने की अनुमति दी है। मनपा कार्यालय में एक ऑनलाइन उद्घाटन कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें कक्षा 11 के छात्र ऑनलाइन मौजूद थे। सूरत महानगर पालिका की नई पहल से ऑनलाइन मौजूद छात्र-छात्राओं में खुशी का माहौल देखा गया।
मेयर हिमाली बोघावाला ने कहा हम वर्तमान में ऑनलाइन शिक्षा की व्यवस्था कर रहे हैं । सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार ऑफलाइन शिक्षा शुरू करने की भी तैयारी है। हायर सेकेंडरी के बच्चों को शिक्षा देने के लिए करीब 40 से 45 शिक्षकों की भर्ती की जाएगी। वर्तमान में हिंदी में 3 कक्षाएं,  मराठी में 11 कक्षाएं और गुजराती में 10 कक्षाओं के साथ कुल 24 कक्षाएं शुरू की गई हैं जिसमें 1562 विद्यार्थियों को अध्ययन की सुविधा मिलेगी। महानगरपालिका की जिम्मेदारी मात्रा प्राथमिक शिक्षा कक्षा 1 से 8 तक की होती है मगर सूरत महानगरपालिका कई सालों से सुमन हाईस्कूल अपने खर्च से चलाकर कक्षा 9 और 10 की शिक्षा प्रदान कर रही है। उसी प्रकार से सूरत महानगरपालिका ने इस वर्ष से हायर सेकन्डरी कक्षा 11 के वर्ग शुरू किए है अगले वर्ष कक्षा 12 के वर्ग शुरू होंगे। सूरत महानगरपालिका देश में पहला नगर निगम है जो तीन भाषाओं में हायर सेकेन्डरी तक की शिक्षा निःशुल्क दे रहा है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें