सूरत : वराछा के 21 छात्रों को 'प्रोजेक्ट रीसाइकल' के तहत गिफ्ट किए गए साइकल

(Photo Credit : khabarchhe.com)

पिता की छत्रछाया खो चुके छात्रों को साइकल देकर सहायता देने का किया गया प्रयास

सूरत महानगर पालिका और सौराष्ट्र पटेल सेवा समाज - सूरत द्वारा पुरानी और बेकार पड़ी हुई सायकलों को रीसाइकल कर जरूरतमंद लोगों को बिना किसी चार्ज के साइकल देने का अभियान शुरू किया गया है। जिसके तहत वराछा के सौराष्ट्र पटेल भवन में 21 छात्रों को रीसाइकल हुई साइकल गिफ्ट की गई है। जिन छात्रों को यह गिफ्ट दिया गया है उसमें से अधिकतर के पिता नहीं है।
डेप्युटी मेयर दिनेश जोधानी के अध्यक्षता में आयोजित इस साइकल वितरण कार्यक्रम में सौराष्ट्र पटेल सेवा समाज के प्रमुख कानजी आर भालाला ने बताया कि जिन छात्रों को साइकल दी गई है, उनके चेहरे कि हंसी ही इस प्रोजेक्ट की सफलता है। साइकलिंग से लोगों का स्वास्थ्य भी सही रहता है और पर्यावरण की रक्षा में भी सहयोगी बन सकते है । आने वाले एक साल में 1000 लोगों को साइकल देने का आयोजन है। इसमें सहायता करने के लिए जो भी इच्छा जाहीर करता है उसे मात्र एक पुरानी साइकल दान देनी है। 
अपने इस अभियान के बारे में बात करते हुये महानगर पालिका के डेप्युटी कमिश्नर राजेश पंडया ने कहा कि साइकल को एक संसाधन के तौर पर देखते हुये उसका अधिक से अधिक इस्तेमाल करना चाहिए। इस लिए सभी संस्थाओं को आगे आना चाहिए। इसके अलावा साइकल के इस्तेमाल से ट्राफिक कि काफी समस्याओं को भी हल किया जा सकता है। इस बारे में सूरत के बायसिकल मेयर के तौर पर प्रसिद्ध सुनियाल जैन ने सभी को जुनी-पुरानी साइकल का दान करने के लिए अपील की थी। इसके लिए वह सौराष्ट्र पटेल समाज की ऑफिस 0261-254041 पर संपर्क कर सकते है। जिससे की अधिक से अधिक लोगों को इसका लाभ दिया जा सके। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें