सूरत : 34 करोड़ की लागत से चार्जिंग स्टेशनों को मंजूरी की कवायद, 25 स्लो और 25 फास्ट चार्जर स्टेशन बनाए जाएंगे

अगले दिनों में मनपा द्वारा शहर में 500 इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन बनाने की योजना

सूरत कॉर्पोरेशन द्वारा इलेक्ट्रीक वाहनों की संख्या में बढ़ोत्तरी करने का फैसला लिया है। जिसके कारण साल के अंत तक शहर के अंदर इलेक्ट्रीक वाहन दौड़ते हुए दिखायी देंगे। लाइट एन्ड फायर विभाग ने कमेटी में 50 चार्जिंग स्टेशन बनाने की तैयारी शुरू की है। आज लाइट एन्ड फायर कमेटी में मंजूरी के लिए रखी जाएगी।
मनपा के स्थायी समिति में 28 अक्टूबर को इलेक्ट्रीक व्हिकल पॉलिसी 2021 को मंजूरी दी गई थी। इसमें शहर में ट्रांसपोर्टेशन में इलेक्ट्रिक वाहनों के उपयोग में बढ़ोत्तरी करने का फैसला लिया है। बड़े विभागों में इस्तेमाल होने वाले वाहन भी इलेक्ट्रिक हो इस दिशा में काम करने की घोषणा की है। अगले दिनों में मनपा द्वारा शहर में 500 इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन बनाने की योजना है। इसमेंं 200 चार्जिंग स्टेशन मनपा और 100 चार्जिंग स्टेशन पीपीपी के तहत तैयार होगे।
लाइट और फायर कमेटी के चेयरमेन किशोर मियाणी ने बताया कि शुरूआत के चरणों में 50 इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन बनाए जाएगे। सभी चार्जिंग स्टेशन मनपा की जगह पर ही बनाए जाएगे। चार्जिंग स्टेशन के लिए केंद्र सरकार की ओर से सब्सिडी मिलती है। जिसमें स्लो चार्जिंग स्टेशनों में 25 प्रतिशत सब्सिडी और फास्ट चार्जिंग में 75 प्रतिशत सब्सिडी केंद्र सरकार द्वारा मिलती है। हालांकि शुरूआत के सभी खर्चा सूरत महानगरपालिका को करना होगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें