सूरत : विधानसभा चुनाव-2022 में वराछा के 97 और करंज के 95 प्रतिशत मतदान केंद्र संवेदनशील

करंज से आप प्रत्याशी सोरठिया पर भी हमला हुआ

शहर-जिले के 4637 पोलिंग बूथों में से 41 प्रतिशत पोलिंग बूथों को जिला चुनाव आयोग द्वारा वल्नरेबल घोषित किया हैं

वराछा विधानसभा में 199 में से 193 (97 प्रतिशत) जबकि कनराज में 176 में से 168 (75 प्रतिशत) मतदान केंद्र संवेदनशील श्रेणी में हैं। सूरत शहर और जिले में कु ल 4637 मतदान केंद्र हैं जिनमें से 41 फीसदी मतदान केंद्रों को संवेदनशील श्रेणी में रखा गया है।

संवेदनशील मतदान केंद्रों पर विशेष सुरक्षा व्यवस्था


विधानसभा चुनाव की तैयारियां जोरों पर हैं। मतदान से लेकर मतगणना तक की सभी प्रक्रिया शांतिपूर्ण संपन्न हो, इसके लिए विशेष रूप से जिला निर्वाचन प्रणाली ने तैयारी की है। विशेष रूप से संवेदनशील मतदान केंद्रों पर निर्वाचन प्रणाली द्वारा शांतिपूर्ण मतदान कराने की प्रक्रिया चल रही है।

पाटीदार आंदोलन के कारण वराछा और करंज विधानसभा संवेदनशिल


2017 के विधानसभा चुनावों से पहले, वराछा सहित क्षेत्रों में पाटीदार आंदोलन के कारण वराछा और करंज विधानसभा मतदान केंद्रों को संवेदनशील श्रेणी में रखा गया था। इन मतदान केंद्रों पर लगातार वीडियोग्राफी, पुलिस बल, अर्धसैनिक बल की पेट्रोलिंग की भी व्यवस्था की गई है। करंज सीट से आप के प्रत्याशी मनोज सोर्थिया पर भी पहले हमला हुआ था।

ये मतदान केंद्र संवेदनशील श्रेणी में हैं


वराछा के 199 मतदान केंद्रों में से 193 मतदान केंद्रों को संवेदनशील श्रेणी में रखा गया है. इसी तरह करंज के 176 मतदान केंद्रों में से 168, कामराज के 520 मतदान केंद्रों में से 383, उत्तर विधानसभा के 163 में से 54 मतदान केंद्रों और कतारगाम के 293 में से 90 मतदान केंद्रों को संवेदनशील श्रेणी में रखा गया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें