राजकोट : आधी रात को बंगले पर आ धमके लुटेरों को पुलिस ने धर दबोचा

पुलिस की सतर्कता से लूट को अंजाम देने से पहले लुटेरा गिरोह दबोच लिया गया

इसी बीच गश्त पर तैनात स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप की टीम सूचना पाकर इस बंगले पर पहुंच गई

 राजकोट में लुटेरों के एक गिरोह और पुलिस के बीच झड़प की घटना सामने आई है। शहर के चित्रकूटधाम मुख्य मार्ग स्थित अवोला रिद्धि सिद्धि नाम के एक घर में रात में करीब छह से सात लुटेरे लूट की नीयत से पहुंचे। इसी बीच पुलिस गश्त पर तैनात स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप की टीम सूचना पाकर इस बंगले पर पहुंच गई। लूट की नीयत से बंगले में घुसे गिरोह ने पूरी तैयारी कर ली थी। लुटेरों ने बंगले के सीसीटीवी फुटेज को रूमाल से ढक दिया, लेकिन बंगले में घुसने से पहले ही पुलिस ने गिरोह को पकड़ लिया। पुलिस जब यहां पहुंची तो गिरोह ने उन पर हमला किया, एक पीएसआई का गला घोंटने की कोशिश की और पथराव भी किया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर के पॉश इलाके माने जाने वाले अमीन मार्ग पर चित्रकूट सोसायटी के एक घर में लुटेरों के एक गिरोह आ धमका। गिरोह ने सोसायटी की गली नंबर 2 स्थित राजेश पटेल के रिद्धि सिद्धि बंगले को निशाना बनाया। घटना रात्रि 2.18 से 2.40 बजे के बीच हुई। करीब 6 लोगों का गैंग बंगले में लूट करने वाली थी। जब पुलिस गश्त पर थी, तो उन्हें शक हुआ कि गिरोह लूट करने आया है।  पुलिस को इसकी सूचना मिलते ही एसओजी पुलिस का काफिला मौके पर पहुंच गया। पुलिस ने बंगले में फिल्मी अंदाज में एंट्री की तो लुटेरों और पुलिस के बीच हाथापाई के दृश्य शुरू हो गए।
पुलिस ने पूरे इलाके को घेर लिया और हमला कर दिया
बंगले के आसपास पुलिस की पूरी टीम तैनात थी। बंगले के आसपास के इलाके की घेराबंदी कर दी गई है। इसके बाद दोनों के बीच हाथापाई शुरू हो गई। खुद को पकड़ा हुआ देख बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। तभी पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की। जिसमें पीएसआई डी.बी. खेर और लुटेरा गिरोह के एक सदस्य की कमर में गोली लगी और एक अन्य गंभीर रूप से घायल हो गया। इन सभी को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया।
पुलिस की मेहनत रंग लाई
हालांकि, राजकोट एसओजी की मेहनत रंग लाई। उन्होंने 4 लुटेरों को पकड़ लिया। ऑपरेशन स्थानीय लोगों के लिए फिल्म की तरह होता जा रहा था। पुलिस फायरिंग में घायल हुए पुलिस एवं लुटेरे के खून से बंगला भी लाल हो गया था
मकान मालिक ने कहा, फरिश्ता बनकर आई पुलिस
पुलिस ने आत्मरक्षा में दो राउंड फायरिंग की, जिसमें दो लुटेरे घायल हो गए। पुलिस की प्रारंभिक जांच में पता चला है कि यह गिरोह मध्य प्रदेश के जंबुवा इलाके का रहने वाला है। इस गिरोह के कुल 4 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। जबकि दो लोग अभी भी पुलिस से दूर हैं। बंगले के मालिक राजेश पटेल ने यह कहते हुए आभार जताया कि पुलिस फरिश्ता बनकर आ गई। फिलहाल पुलिस गिरफ्तार किए गए लोगों से पूछताछ कर रही है। जबकि फरार आरोपित की तलाश की जा रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें