एक दिन 20 हजार से अधिक पर्यटक पहुंचे प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी देखने, ऑनलाइन सर्वर हुआ क्रेश

अकाउंट से कट गये पैसे पर बुक नहीं हुई टिकेट, जमकर मचा हंगामा, अंत में बुलानी ही पड़ी पुलिस

दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को देखने के लिए आज करीब 20,000 पर्यटक पहुंचे। एक साथ इतनी बड़ी संख्या में पर्यटकों के आ जाने से ऑनलाइन टिकट सर्वर क्रैश हो गया और इससे पर्यटकों में हड़कंप मच गया। केवड़िया स्थित स्वागत कार्यालय में पर्यटकों की भारी भीड़ के कारण तंत्र को पुलिस बुलानी पड़ी।
आपको बता दें कि पर्यटकों का कहना है कि ऑनलाइन टिकट बुक करते समय उनके पास से पैसे कट गए लेकिन टिकट बुक नहीं हुई। ऐसे में खाते से पैसे कट जाने और टिकट नहीं मिलने से सैलानी आक्रोशित हो गए। जिसके बाद व्यवस्था को मजबूर होकर पुलिस बुलानी पड़ी। दूर-दूर से आने वाले पर्यटकों के फंसने से काफी हंगामा हुआ। आखिरकार ऑनलाइन बुकिंग के बजाय ऑफलाइन टिकटिंग की शुरुआत की गई।
इससे पहले भी पर्यटकों को स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की व्यू गैलरी में जाने का मौका नहीं मिलता था। इसके अलावा पर्यटकों द्वारा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की लिफ्ट में हंगामा मचाने की भी घटनाएं हुई हैं।
4 महीने पहले भी स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के लिए एक टूरिस्ट गाइड, सुपरवाइजर और टूरिज्म असिस्टेंट का जॉब इंटरव्यू के दौरान हंगामा देखने को मिला था। साक्षात्कार सीआईएफएल एचआर कंपनी द्वारा आयोजित किया गया था। नौकरी चाहने वालों की भीड़ इकट्ठी होने के कारण पुलिस को बुलाना पड़ा और लक्ष्मीपुरा पुलिस ने आयोजक रितेश सुरेश राव को घोषणा का उल्लंघन करने के लिए हिरासत में लिया। जिससे कंपनी को मजबूरन इंटरव्यू रद्द करना पड़ा। भरूच से बीजेपी सांसद मनसुख वसावा ने नर्मदा निगम के एमडी राजीव गुप्ता को पत्र लिखकर भर्ती पर रोक लगाने की मांग की थी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें