मनी लौन्डिंग मामला : अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडीस को बड़ी राहत, 12 दिसंबर तक टली सुनवाई

अगली सुनवाई में तय होगा दोष, अभिनेत्री का कहना, इस धोखाधड़ी के बारे में जानकारी नहीं थी और वह तो खुद इसका शिकार बनी है

आज अदालत से बॉलीवुड अभिनेत्री  जैकलीन फर्नांडीस को बड़ी राहत मिली। दरअसल कोर्ट ने सुकेश चंद्रशेखर के करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी के मामले में सह आरोपी जैकलीन फर्नांडीस के खिलाफ आरोप तय करने को लेकर होने वाली सुनवाई फिलहाल 12 दिसंबर के लिए टाल दी। वहीं दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट 12 दिसंबर को तमाम आरोपियों के वकीलों की दलील सुनेने के बाद ही सुकेश चंद्रशेखर समेत तमाम आरोपियों के खिलाफ आरोप तय करेगी। दलीलें सुनने के बाद ही अदालत यह तय करेगी कि क्या दिल्ली पुलिस ने सुकेश चंद्रशेखर और जैकलीन फर्नांडीस के खिलाफ आरोपपत्र में जो आरोप लगाए हैं वह बनते हैं या नहीं। 

अदालत के सामने अपना पक्ष रखेंगी अभिनेत्री


आपको बता दें कि मिली जानकारी के अनुसार आरोप तय करने पर होने वाली बहस के दौरान ही अभिनेत्री अदालत के सामने अपनी दलीलें रखते हुए अपना पक्ष बताने की कोशिश करेंगी। इसी दौरान साफ़ होगा कि दिल्ली पुलिस ने जैकलीन के खिलाफ दायर चार्जशीट में जो आरोप लगाए हैं वह पूरी तरह बेबुनियाद है या उनमें कोई सच्चाई है। वहीं आरोपी जैकलीन को इस धोखाधड़ी के बारे में जानकारी नहीं थी और वह तो खुद इसका शिकार बनी है।चार्जशीट में आरोप लगाया गया था कि पिंकी चंद्रशेखर द्वारा भुगतान किए जाने के बाद उनके आवास पर जैकलीन के लिए महंगे गिफ्ट्स चुनती थी और उन्हें ड्रॉप कर देती थी।पिछले दिसंबर में, जांच एजेंसी ने अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश प्रवीण सिंह की अदालत के समक्ष इस मामले में पहली चार्जशीट दायर की थी।

15 नवंबर को अभिनेत्री जैकलीन को कोर्ट ने दी थी जमानत


फर्नाडीस गुरुवार सुबह मामले के सिलसिले में पटियाला हाउस कोर्ट में पेश हुईं। इससे पहले 15 नवंबर को कोर्ट ने एक्ट्रेस को अग्रिम जमानत दी थी। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने हाल ही में जैकलीन को एक आरोपी के रूप में नामित करते हुए अपनी दूसरी पूरक चार्जशीट दायर की थी। अदालत ने 26 सितंबर को उन्हें गिरफ्तारी से अंतरिम संरक्षण प्रदान किया है। फर्नाडिस और एक अन्य बॉलीवुड हस्ती नोरा फतेही ने मामले में गवाह के तौर पर अपने बयान दर्ज कराए हैं। ईडी ने फर्नाडिस की 7।2 करोड़ रुपये की संपत्ति और सावधि जमा को कुर्क किया था। जांच एजेंसी ने इन उपहारों और संपत्तियों को अभिनेत्रियों द्वारा प्राप्त 'अपराध की आय' करार दिया।

जैकलीन की गिरफ्तारी पर सवाल


विदेश भागने की दलील पर कोर्ट ने कहा था। जब LOC जारी हो चुका था तो उन्हें गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया। जबकि इस मामले से जुड़े बाकि आरोपी जेल में थे। वहीं जैकलीन की तरफ से यह कहते हुए जमानत मांगी कि उन्हें हिरासत में ना लिया जाए क्योंकि जांच पूरी हो चुकी है और आरोप पत्र भी दाखिल किया जा चुका है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें