गुजरातः कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए आयुर्वेद और होम्योपैथिक दवा का वितरण जोरों पर

आयुर्वेद विभाग द्वारा दवा वितरण

नर्मदा जिले में कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति को देखते हुए जिला आयुर्वेद विभाग द्वारा किया जा रहा है दवा का वितरण

स्वास्थ्य परिवार कल्याण विभाग के मार्गदर्शन के तहत तथा जिला प्रशासनिक विभाग द्वारा मिले आदेश के अनुसार जिले में  कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए आयुष मंत्रालय की मार्गदर्शिका के अनुसार जिला अधिकारी डॉ. नेहा परमार की देखरेख में नर्मदा जिला में रोग प्रतिकारक आयुर्वेद और होम्योपैथी दवा का वितरण जोर शोर से किया जा रहा है।
आयुष मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के अनुसार लोगों की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए, आयुर्वेद में गलो घनवटी (संशमनी वटी) एवं होमियोपैथी में आर्सेनिक अल्बम-30  दवा का वितरण जिला के जिले के कंटेन्मेन्ट, बफर जोन तथा संभावित क्षेत्रों के अलावा सरकारी कार्यलयों में भी दवा का वितरण की कार्यवाही सतत चल रही है। 
अब तक राजपीपला शहरी क्षेत्र में दरबार रोड, रॉयल सन सिटी, पंचवटी सोसाइटी, आदित्य बंगलोज 1-2, राजपूत फलियू, माधवबाग सोसाइटी, चित्रकूट सोसाइटी, राजेंद्रनगर सोसाइटी, राधास्वामी कंपाउंड, वृंदावन सोसाइटी और ग्रामीण इलाकों वडिया, कंराडा, गोपालपुरा, टावल, सिसोदरा, गर, वरखड,  लाछरस, केवडिया कॉलोनी, भूछाड, गुवार, गामकुवा नर्सिंग कॉलेज, खड्गदा, वालपुर, सांढिया, अमदाला आदि गांवों में  बड़े पैमाने पर रोग प्रतिकारक दवा वितरण किया जा रहा है। एक ही समय में सरकारी कार्यालयों, अधिकारियों / कर्मचारियों और पुलिस अधीक्षक के कार्यालय और जिले के सभी पुलिस कर्मचारियों के लिए, अनुमानित 4520 संशमनी वटी और 8500 आर्सेनिक एल्बम पैकेट वितरित किए गए हैं।
आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी श्री वैद अंकिता विरोजा, वैद दिव्या सोलंकी, वैद श्रद्धा जकासनिया, वैद राजेश पाटिल और वैद आशीष सेलोट दवा वितरण काम में जुड़े है। जबकि होम्योपैथिक दवा वितरण डॉ. स्वेजल गांधी और डॉ. पिनाकिन परमार द्वारा किया जा रहा है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें