गुजरात : स्कूल संचालक द्वारा शिक्षक से जबरन उगाही की शिकायत, जांच के आदेश

प्रतिकात्मक तस्वीर (File Photo : IANS)

कन्याशाला में नियुक्त हुये शिक्षक से मांगी भारी रकम, ना देने पर चालचलन सही ना होने की शिकायत करने की दी धमकी

सरकारी कचहरियों और बाबुओं के पास रिश्वत देनी पड़ी हो ऐसी कई घटनाएँ आपके सामने आती रहती है। ऐसी ही एक और घटना गुजरात के दाहोद जिले से सामने आई थी। जहां एक ग्रांटेड स्कूल के संचालको द्वारा नए नियुक्त हुए शिक्षकों के पास से फिरौती मांगने की शिकायत सामने आई है। दाहोद जिले के झलोद तहसील में आई एक कन्या शाला के शिक्षक द्वारा नए नियुक्त हुये शिक्षको के पास से 6 लाख की बड़ी रकम की फिरौती मांगी जाती थी और नहीं देने पर नौकरी नहीं करने देने की धमकी दी जाती थी। 
विस्तृत जानकारी के अनुसार, मूल रूप से भूक के रहने वाले विपुल गौस्वामी की नियुक्ति दाहोद जिले के लिमड़ी गाँव की कन्याशाला में हुई थी। शिक्षण विभाग द्वारा विपुल को स्कूल में हाजिर होने के लिए एप्पोइंटमेंट लेटर भी दिया गया। जिसे लेकर स्कूल में गए विपुल के पास से स्कूल के संचालको ने पैसे मांगे थे। जिस बात की शिकायत विपुल ने दाहोद के डीईओ में की थी। विपुल के अनुसार, जब वह स्कूल में गया तो वहाँ के संचालकों ने उससे पहले 12 लाख और उसके बाद 6 लाख की मांग की थी। जिसमें उसने अपनी असमर्थता दिखाई थी। 
विपुल ने कहा कि जब उसने पैसे देने के लिए मना किया तो संचालक ने उसे अपमानित करते हुये उसे वापिस चले जाने के कहा और यदि 6 लाख लेकर नहीं आए तो उसे स्कूल में आने नहीं देने की धमकी दी। इसके अलावा यदि किसी तरह उसने स्कूल आना शुरू कर भी दिया तो उसका व्यवहार कन्या शाला के लिए सही नहीं है, ऐसी रिपोर्ट देकर उसे निकाल देने की धामकी भी दी थी। जब वह स्कूल में से गया तो संचालक ने अपने कुछ आदमियों को खुद के पीछे भेज उसकी रेकी किए होने की बात भी विपुल ने अपनी शिकायत में की। 
उल्लेखनीय है कि कई इलाकों में अपनी मेहनत से आगे आए नव नियुक्त शिक्षक के पास से संचालको द्वारा पैसे ऐंठे जाते है। ऐसे में यदि इन लोगों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही नहीं कि गई तो आगे भी इस तरह से यह लोगों को परेशान करते रहेगे। ऐसे में तात्कालिक ऐसे संचालकों को हटाये जाने की मांग भी उठी है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें