गुजरात : मुख्यमंत्री ने कच्छ में सिंचाई के लिए नर्मदा जल पहुँचाने से जुड़े 4369 करोड़ रुपए के कार्यों को दी मंज़ूरी

मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल

मुख्यमंत्री का कच्छ के धरती पुत्रों को आवश्यकता के अनुसार सिंचाई जल मुहैया कराने का किसान हितोन्मुखी दृष्टिकोण

कच्छ जिले की 6 तहसीलों के 77 गाँवों के 2.81 लाख एकड़ भूमि क्षेत्र को सिंचाई के लिए मिलेगा नर्मदा का पानी
मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने राज्य के सीमावर्ती जिले कच्छ के लिए नर्मदा के अतिरिक्त 1 मिलियन एकड़ फ़ीट जल के उपयोग के लिए फेज़-1 के 4369 करोड़ रुपए के कार्यों को मंज़ूरी दी है। नर्मदा नदी के बाढ़ में बह जाने वाले अतिरिक्त पानी का यह एक मिलियन एकड़ फ़ीट पानी कच्छ प्रदेश के लिए आवंटित किया गया है। इस अतिरिक्त जल को 337.98 किलोमीटर लम्बी पाइप लाइन द्वारा 4 लिंक के ज़रिये पहुँचाया जाएगा। राज्य के जल संसाधन विभाग की कच्छ के धरती पुत्रों को उनकी आवश्यकता के अनुसार सिंचाई जल मुहैया कराने के उद्देश्य से पाइप लाइन के ज़रिये लगभग 38 लघु एवं मध्यम सिंचाई योजनाओं में यह नर्मदा जल पहुँचाने की योजना है।
मुख्यमंत्री ने इस उद्देश्य से कच्छ शाखा नहर के वर्तमान कामकाज को ध्यान में रखते हुए फेज़-1 के अंतर्गत 4369 करोड़ रुपए के काय शुरू करने को प्रशासनिक मंज़ूरी दी है। ये कार्य शुरू होने के फलस्वरूप कच्छ की 6 तहसीलों मुंद्रा, अंजार, मांडवी, रापर, भुज एवं नखत्राणा के 77 गाँवों को सिंचाई सुविधा मिलेगी। इतना ही नहीं, इस नर्मदा जल से लगभग 2 लाख 81 हज़ार एकड़ क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। नर्मदा का यह अतिरिक्त जल जिन चार लिंक के ज़रिये लगभग 38 लघु एवं मध्यम सिंचाई योजनाओं में पहुँचाया जाना है, उनमें 72.46 किलोमीटर की सारण लिंक, 106.02 किलोमीटर की सदर्न लिंक, 107 किलोमीटर की नॉर्दन लिंक और 52.50 किलोमीटर की हाई कंटूर स्टोरेज लिंक शामिल हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें