गुजरात : नॉन वेज मामले में फिर बोले भाजपाध्यक्ष सी आर पाटिल, 'अपनी पसंद का खाने की सबको छूट!'

गुजरात प्रदेश भाजपाध्यक्ष सी आर पाटिल (File Photo)

मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने भी माना लोगों को मनपसन्द खाना खाने की आजादी, लारी हटाने का फैसला मनपा का

आज कल गुजरात में प्रशासन द्वारा लिए गए एक फैसले से राजनीति का माहौल गर्म हो चुका है। गुजरात प्रशासन की ओर से मांसाहारी व्यजंन वाले लॉरी और ट्रकों को हटाने के आदेश जारी होने के बाद से राज्य के महानगरों में पिछले कई दिनों से हंगामा चल रहा है। इस बीच राजकोट में आयोजित कार्यक्रम में सीआर पाटिल ने इस मुद्दे पर अहम बयान दिया है।
आपको बता दें कि बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष पाटिल ने कहा, "देश में हर किसी कोअपनी पसंद का खाने का अधिकार है।" साथ ही साथ इस संबंध में प्रत्येक महापौर को आवश्यक निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं। गौरतलब है कि गुजरात के प्रमुख शहरों में सार्वजनिक सड़कों के साथ-साथ सार्वजनिक स्थानों पर अंडा और मांसाहारी लॉरियों को हटाने की घोषणा पर मिली-जुली प्रतिक्रिया हुई थी।
वहीं आणंद में एक समारोह में खुद मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने कहा, "लोग जो चाहें खा सकते हैं, हमें कोई आपत्ति नहीं है।" उन्होंने आगे कहा कि सार्वजनिक सड़कों से मांसाहारी अंडे की लॉरियों को हटाने का निर्णय नगर निगम ने लिया है लेकिन राज्य सरकार का स्पष्ट मानना है कि एक नागरिक जो चाहे खा सकता है लेकिन यह भी आवश्यक है कि ऐसा भोजन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक न हो। हालांकि उन्होंने यातायात या नागरिकों के लिए बाधा बनने वाली लॉरियों को हटाए जाने की बात कही।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें