गुजरात की लोकप्रिय लोकगायिका गीता रबारी को घर जाकर वैक्सीन दिए जाने पर हुआ विवाद

(Photo :Divyabhaskar.com)

स्वास्थ्य अधिकारी को मिला कार्रवाई करने का आदेश

देश में फैले कोरोना महामारी के रोकथाम के लिए देश में बड़े पैमाने पर टीकाकरण शुरू किया गया हैं। हालांकि कुछ राज्यों में टीकाकरण को लेकर कुछ समस्याओं का सामना भी करना पड़ा। इसी बीच गुजरात भुज के जोदिया गांव के माधापार की और देश-विदेश में प्रसिद्ध लोक गायिका गीता रबारी ने शनिवार को अपने ट्विटर पर एक पोस्ट किया जिसमें उन्हें उन्ही के घर पर टीका लेते हुए देखा जा सकता हैं। इस पोस्ट के सामने आते ही विवाद ने जन्म ले लिया और विवाद के चलते इस पोस्ट को हटाना पड़ा। साथ ही इस पोस्ट के सामने आते ही स्वास्थ्य अधिकारी को कार्रवाई करने का आदेश दिया गया है। जिसके बाद सीडीएचओ डॉ जनक मधक ने रविवार दोपहर 12 बजे तक माधापार की महिला स्वास्थ्य पर्यवेक्षक को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है।
आपको बता दें कि देशभर में चल रहे टीकाकरण की सबसे बड़ी समस्या स्लॉट बुकिंग हैं। एक तरफ 18 से 44 साल के बीच के लोग वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन कराने का हर संभव प्रयास कर रहे हैं, फिर भी उन्हें मनचाही जगह पर बुकिंग नहीं मिल रही। साथ ही लोगों को वैक्सीन लेने के लिए दो घंटे का सफर तय करना पड़ रहा है। ऐसे में एक पोस्ट ने एक सवाल खड़ा कर दिया और लोगों ने इस पोस्ट के सामने आते ही  बिना रजिस्ट्रेशन अपने घर पर ही लोक गायिका गीता रबारी और उनके पति समेत परिवार के सदस्यों को  टीका लगवाने की बात को लेकर प्रशासन की व्यवस्था पर सवाल उठा दिए।
दिव्य भास्कर के अनुसार लोगों ने गीता रबारी ने ट्विटर पर पोस्ट करने के बाद से उनसे बहुत से सवाल पूछे जैसे कि आपने रजिस्टर कब किया? आपको कौन सा स्लॉट मिला? ऐसे में लोगों के सवालों के जवाब देने में असमर्थ गीता ने अपनी गलती समझते हुए पोस्ट को हटा दिया, लेकिन उसके पति ने इसी को व्हाट्सएप स्टेटस पर पोस्ट कर दिया. इसके बाद लोगों ने इसका स्क्रीन शॉट लेकर ट्विटर पर गाइडलाइंस की बात कर रहे जिला विकास अधिकारी भव्य वर्मा को घेर लिया। इसके बाद सीडीएचओ डॉ जनक ने प्रारंभिक पूछताछ के बाद आरोपित के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए और रविवार दोपहर 12 बजे तक खुलासा करने के लिए माधापार की महिला स्वास्थ्य पर्यवेक्षक को नोटिस जारी किया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें