सूरत जिले में अतिक्रमण, खाडीओं को नुकसान के संदर्भ में राज्य के नेता प्रतिपक्ष परेश धानाणी को शिकायत

सूरत जिले की समस्या को राज्य के नेता प्रतिपक्ष के समक्ष पेश करते दर्शन नायक और योगेन्द्र पटेल

सूरत जिले में अतिक्रमण, खाडी बाढ़, फर्जी चिकित्सकों की शिकायत के संदर्भ में राज्य के नेता प्रतिपक्ष को सूचित करके राजस्व सचिव से योग्य कार्यवाही की पेशकश हुई।

परेश धानाणी ने राजस्व सचिव से योग्य कार्यवाही करने पेशकश की
सूरत जिले की अधिकांश सरकारी जमीनों पर अतिक्रमण, तटीय क्षेत्र की खाडीओं को नुकसान,जंगलों का नाश ,बाढ के पानी के निकाल के अभाव से फसल को नुकसान, अवैध झींगा तालाब की शिकायत राज्य के विपक्षी नेता परेश धानाणी को की गई थी। इस शिकायत पर राज्य के राजस्व विभाग के सचिव को नियमानुसार योग्य कार्यवाही करने को कहा है। 
सूरत जिला पंचायत के पूर्व सदस्य दर्शन नायक, और योगेन्द्र पटेल द्वारा जिले की विभिन्न समस्या को लेकर गांधीनगर में नेता प्रतिपक्ष परेश भाई धानाणी को लिखित शिकायत की गयी।सूरत जिले के तटीय क्षेत्र में कुदरती खाडी को हो रहे नुकसान और मेंग्रुव के जंगलों का हो रहा विनाश के कारण मोन्सून के समय में खाडी में पानी के बहाव की समस्या होती है। खाडी में बरसात का पानी बहने में रूकावट होने के कारण अधिक समय तक पानी खेतों में जमा होता है। खेतों में अधिक समय जलजमाव से किसानों की फसल को नुकसान होता है। इसके अलावा तटीय क्षेत्र में सरकारी जमीनों पर अतिक्रमण करके झींगा तालाब बनाए गए है। झींगा तालाबों को दुर करने के‌ लिए विजिलन्स विभाग में भी शिकायत की गई फिर भी कोई कार्यवाही नही हुई। इसके अलावा जिले में फर्जी चिकित्सको पर कार्यवाही करने में भी स्वास्थ विभाग नाकाम साबित हो रहा है। जल्द से जल्द फर्जी चिकित्सक ( मुन्नाभाई एमबीबीएस ) पर कार्यवाही करने की मांग की है। 
दर्शन नायक और योगेन्द्र पटेल की शिकायत को परेश धानाणी ने राज्य के राजस्व सचिव को योग्य कार्यवाही करने को कहा है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें