सांप्रदायिक सद्भाव : वलसाड में हनुमानजी के मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा के लिये मुस्लिम परिवार ने दिया 21 हजार का दान

(Photo Credit : vtvgujarati.com)

मुस्लिम समुदाय ने तीन दिवसीय प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव के दौरान तीन दिन तक श्रद्धालुओं को पानी उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी ली

रामनवमी की पूर्व संध्या पर हिन्दुओं द्वारा निकली गई रैली में खंभात और हिम्मतनगर में कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा राज्य में शांति भंग करने का प्रयास किया गया। समुदाय विशेष द्वारा लोगों पर पत्थर और पेट्रोल बम फैके गये। साम्प्रदायिक दंगों से जूझ रहे राज्य के एक दुसरे हिस्से में साम्प्रदायिक एकता की मिसाल देखने को मिली। वलसाड जिले के उमरगाम में हनुमानजी मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव में मुसलमान समुदाय द्वारा हनुमान मंदिर निर्माण में अनूठी पहल की गयी।
जानकारी के अनुसार उमरगाम में मछुआरा समुदाय द्वारा संचालित नवनिर्मित हनुमानजी मंदिर के पुनर्स्थापन का आयोजन किया गया। जिसमें उमरगाम की सबसे बड़ी मस्जिद के मौलाना समेत मुस्लिम समुदाय के नेता प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव में पहुंचे। उन्होंने हनुमानजी मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव में 21,000 रुपये का योगदान दिया। वहीं मुस्लिम समुदाय ने तीन दिवसीय प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव के दौरान तीन दिन तक श्रद्धालुओं को पानी उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी ली। इस तीन दिवसीय प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव में मुस्लिम महिलाएं भी शामिल हुईं। 
गौरतलब है कि जिस राज्य में एक समाज धर्म के नाम पर दूसरे समाज से नफरत करता नजर आता है, वहां छोटे-छोटे उमरगाम के सभी धर्मों के लोग इस उत्सव में शामिल हुए हैं और एक दूसरे के धर्म का सम्मान और स्वागत करते हुए सांप्रदायिक एकता की मशाल दी है। खास बात यह है कि हनुमानजी मंदिर प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव में राज्य के वित्त मंत्री कनुभाई देसाई समेत कई राजनीतिक नेता मौजूद थे और दर्शन के लिए उनका शुक्रिया अदा किया गया। इस प्रकार उमरगाम के हनुमानजी मंदिर का प्राणप्रतिष्ठा महोत्सव साम्प्रदायिक एकता का प्रतीक बन गया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें