अभयम 181 महिला हेल्पलाइन सूरत ने बेटी को ड्रग एडिक्ट के चंगुल से छुड़ाया

108 अभयम महिला हेल्पलाईन

नशेखोर पिता की प्रताडना से बचाकर १०८ अभयम टीम ने नाबालिक को उसके दादा के पास सोंपकर भविष्य में परेशान न करने की चेतावनी पिता को दी गई।

नशेखोर पिता के चुंगाल से बचाकर रूखी को दादा के पास सुरक्षित सोंपा
सूरत शहर के लंबे हनुमान इलाके में एक तीसरे व्यक्ति ने अभयम 181 महिला हेल्पलाइन को फोन किया कि एक आदमी सड़क के बीच में एक युवती की पिटाई कर रहा था, इसलिए उमरा महिला पुलिस स्टेशन में स्थित अभयम बचाव वैन तुरंत उस युवती के साथ हुए विवाद को रोकने के लिए दौड़ी। अभयम टीम से प्राथमिक पुछताछ में पता चला की उसकी माँ नहीं है, वह अपने पिता के साथ श्रम कार्य के लिए सूरत आई है। उसके पिता नशे में हैं और बिना किसी कारण मारझुड करते है।  पिता के साथ नही रहना है और मानसिक प्रताडना से बचाने के लिए युवति ने अभयम टीम से विनंती करने पर उसे उसके दादा को सोंपा गया। 
माँ की मौत के बाद पिता लडकी को गांव से मजदुरी करने साथ ले आया
रूखी नाम की एक 18 वर्षीय लड़की की माँ की मृत्यु के बाद, वह अपने पिता के साथ काम करने के लिए उना तहसिल के पास के गाँव से सूरत आई थी। उसने कक्षा 11 तक पढ़ाई की है,  वह अपनी पढ़ाई जारी रखना चाहता था लेकिन उसके पिता ने पढाई छुडा दि और उसे मजदुरी के लिए सूरत ले आए। उसके पिता उसे बार-बार पीटा करते थे और उससे कि उससे प्रताडना सहन नही होती थी। पिता रूखी को नशे की हालत मे मारपीट कर रहे थे तभी एक तीसरे व्यक्ति ने 181 महिला हेल्पलाइन को फोन किया। पुलिस कंट्रोल रूम से उमरा पुलिस स्टेशन से 108 अभयम की टीम उसकी मदद के लिए स्थल पर रवाना हुई।
लडकी को मारपीट करने पर अभयम की टीम उसे पुलिस थाने ले आयी
उसने 181 अभयम टीम से कहा की वह अब अपने पिता के साथ नहीं रहना चाहती। इसलिए उसे वराछा पुलिस स्टेशन द्वारा महिला आश्रम में आश्रय दिया गया। अभयम टीम ने रूखी से पुछा की तुम किसी संबंधी के पास जाना चाहती है क्या तब उसने अपने दादा का नाम और नंबर दिया। जब उसके दादा आए और उसे अपने साथ ले गए। अभयम बचाव दल ने घटनास्थल पर पहुंचकर रूखी को उसके पिता की पिटाई से बचाया। रूखी अब अपने पिता के साथ नहीं रहती है।
भविष्य में पिता रूखी को परेशान नही करे ऐसी चेतावनी दी गई
अभयम टीम ने दादा के साथ इस मामले पर चर्चा की और स्थायी रूप से उनके साथ रहने के लिए सहमत हुई। अभयम टीम ने रूखी के पिता को सख्त चेतावनी दी थी कि भविष्य में उसे परेशान किया तो पुलिस केस दर्ज करके गिरफ्तार किया जायेगा। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें