सुरत : आप प्रदेश प्रमुख के घर पर हुआ हंगामा, परिवारजनों को धमकाया

सुरत : आप प्रदेश प्रमुख के घर पर हुआ हंगामा, परिवारजनों को धमकाया

इटालिया के धर्मविरोधी निवेदन के बाद कुछ युवकों द्वारा श्रीमद भगवदगीता देने के बहाने किया गया हंगामा

आम आदमी पार्टी एक प्रदेश प्रमुख गोपाल इटालिया द्वारा किया गया धर्मविरोधी निवेदन थमने का नाम ही नहीं ले रहा। राज्यभर में इस निवेदन के चलते कई लोग उनका विरोध कर रहे है। ऐसे में कुछ लोगों द्वारा प्रदेश प्रमुख के घर जाकर कुछ लोगों द्वारा हँगामा किए जाने की शिकायत सामने आने पर हँगामा मच गया है। आप के प्रदेश प्रमुख ने की गई शिकायत के अनुसार, कुछ युवकों द्वारा उनकी गैर-मौजूदगी में उनके घर पर पहुँचकर उनकी माता और बहन के साथ बहस की गई थी। इसके अलावा उन्होंने दोनों के साथ अभद्र वर्तन भी किया था। जिसके बाद गोपाल इटालिया की शिकायत के आधार पर पुलिस ने दोनों युवकों को हिरासत में लिया है। 
पुलिस द्वारा अमित आहिर और विकास आहिर सहित के युवकों ने आप के प्रदेश प्रमुख गोपाल इटालिया के घर पर पहुँचकर घर में रहे सदस्यों से पूछा गया कि क्या उन्हें भगवदगीता चाहिए। जिसके बाद उन्हों ने घर में से गोपाल इटालिया हो तो उन्हें बाहर आने कहा। जिसके बाद उन्होंने गोपाल की माता के साथ बहस शुरू की। हालांकि इसी दौरान अपार्टमेंट के अन्य सदस्य भी वहाँ पहुँच गए, जिसके चलते दो युवक चोरी से वहाँ से भाग गए, पर अमित आहिर और विकास आहिर हिरासत में लिए गए। उन्होंने गोपाल के खिलाफ सूत्रोच्चार करना शुरू कर दिया। जिसके चलते सोसाइटी के सदस्यों ने पुलिस को बुलाया। पुलिस ने आकर दोनों को हिरासत में लिया।   
हिरासत में लिया गया अमित आहिर (Photo Credit : divyabhaksar.co.in)
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, दोनों युवकों को भाजपा के कुछ नेताओं के काफी नजदीक का माना जा रहा है और उन्हीं के इशारे जाकर उन्होंने गोपाल इटालिया के घर जाकर विरोध किए होने की चर्चा शुरू हुई है। इस बारे में हिरासत में लिए गए अमित ने कहा कि वह किसी का विरोध करने नहीं आए थे। वह सभी तो नजदीक में आए मंदिर में पूजा करने के बाद गीता का वितरण करने के लिए निकलते थे। उन्हें तो गोपाल का घर भी नहीं मालूम था। पर अचानक ही आम के कार्यकर्ताओं द्वारा उन पर हमला कर दिया गया। 
अपने परिवार के साथ हुई इस घटना के बारे में बात करते हुये गोपाल ने कहा कि विरोध पक्ष के कुछ असामाजिक कार्यकर्ता उनके घर आए थे और सबसे पहले उन्होंने सोसाइटी के वाचमैन को गालिया दी। जिसके बाद उन्होंने घर के सदस्यों को डराया, जो कि सही नहीं है। वह सिर्फ इतना कहना चाहते है कि राजनीति में विरोध करो पर परिवार के सदस्यों पर हमला करना सही नहीं है। 

Related Posts