अमरेली : शेर ने किया 7 साल के बच्चे पर हमला, हुई मौत

अमरेली : शेर ने किया 7 साल के बच्चे पर हमला, हुई मौत

इस घटना के बाद ग्रामीणों में भय का माहौल, पंद्रह दिन पहले भी हुआ था ऐसा ही हमला

अमरेली में शेर जैसे जंगली जानवरों का आतंक जस का तस बना हुआ है। यहाँ के लिए लोग शेर के आतंक के साये में जी रहे हैं। सावरकुंडला के घनश्याम नगर सीम इलाके में अब भी शेरों का आतंक देखा जा रहा है। शेर ने 7 साल के बच्चे पर हमला कर दिया है। जिसमें गंभीर चोट के इलाज के लिए बच्चे को राजुला अस्पताल में रेफर कर दिया गया। राजुला अस्पताल पहुंचने पर बच्चे की मौत हो गई। इससे पहले यहां सीम एरिया में एक बच्चे को शिकार बना कर मार डाला गया था। सर्दी के मौसम में खेती का काम करने वाले मजदूरों में जंगली जानवरों के आतंक से भय का माहौल पैदा हो गया है। 15 दिन पहले वन विभाग ने इसी गांव से शेर और तेंदुए को पिंजरे में रखा था। एक और शेरनी के हिंसक होने की खबर से लोगों में हड़कंप मच गया है।

शेरों के हमले की घटनाएं बढ़ीं


आपको बता दें कि सावरकुंडला के घनश्यामनगर में कुछ ही दिनों में शेर के हमले की दो घटनाएं सामने आई हैं। आज किसान परिवार के सात साल के बच्चे पर शेर ने हमला कर दिया। गंभीर रूप से घायल बच्चे को इलाज के लिए राजुला अस्पताल में रेफर कर दिया गया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

वन विभाग ने शेरनी को पिंजड़े में डालने की कवायद की


इस घटना के बाद ग्रामीणों में भय का माहौल पैदा हो गया है। धारी गिर वन प्रमंडल के डीसीएफ राजदीप सिंह झाला ने वन विभाग सावरकुंडला रेंज को सख्त निर्देश जारी किया और वन विभाग की एक टीम ने मौके पर पहुंचकर अलग-अलग दिशाओं में जांच की और पिंजरा लगाने की कार्रवाई की। यहां 15 दिन पहले जहां एक 3 साल के बच्चे को शेरनी ने हमला कर मार डाला था, वहीं आज एक और बच्चे की मौत हो गई है, जिससे और भी ज्यादा डर का माहौल बन गया है।

2 दिन पहले एक शेरनी ने किया बिजली वालों का पीछा


गौरतलब है कि 2 दिन पूर्व पीजीवीसीएल विभाग के कर्मचारी जब घनश्यामनगर क्षेत्र में कृषि क्षेत्र में काम कर रहे थे तो एक शेरनी ने उनके पीछे दौड़कर उन पर हमला करने का प्रयास किया।
Tags: Lion Amreli

Related Posts