ऑक्सिजन कन्सट्रेटर की मांग बढ़ने पर इसके भी लिये जा रहे कई गुना दाम

प्रतिकात्मक तस्वीर

50 हजार की मशीन के वसूले जा रहे है 2 लाख तक की कीमत

जो लोग होम क्वॉरेंटाइन में घर पर उपचार ले रहे हैं उन लोगों को के लिए ऑक्सीजन प्रोड्यूस करने वाला ऑटोमेटिक मशीन असरकारक साबित हो रहा है। यह मशीन वातावरण में से लिए हुए वायु में से 95% शुद्ध ऑक्सीजन बनाता है। जिससे कि इसकी डिमांड अधिक है बढ़ती मांग को देखते हुए विक्रेता इसके लिए 50,000 तक वसूल रहे हैं। होम क्वारन्टाइन मरीजों के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता पड़ने पर इस समय ऑक्सीजन सिलेंडर नहीं मिल रहे। ऐसे में परिवार जनों के सामने बड़ी दिक्कत खड़ी हो जा रही थी। 
हालांकि ऑक्सीज़न कन्सट्रेटर वातावरण में से मिलने वाले वायु का उपयोग करके शुद्ध ऑक्सीजन बनाता है। जिसकी इन दिनों बड़े पैमाने पर डिमांड है। ऐसी मशीन के विक्रेता सुमित गर्ग ने बताया कि ऑक्सीजन कोन्स्ट्रेटर हवा से ऑक्सीजन खींच लेता है। यह मशीन भारत में भी बनते हैं लेकिन इसकी सप्लाई कम है। यूएस, जर्मनी, सिंगापुर, चाइना से बड़े पैमाने पर इसे इंपोर्ट किया जा रहा है। इसकी क्षमता के अनुसार इसकी कीमत होती है। 9-10 लीटर का कीमत 1.25 लाख से पौने दो लाख तक की है। पहले इसकी मांग 5-10% भी नहीं थी लेकिन अब 100% डिमांड है। 
पर्सनल यूज़ के लिए एक मशीन कहीं से भी इंपोर्ट की जा सकती है। जिस पर की इंपोर्ट ड्यूटी नहीं है। हालाकि एक साथ मंगाने पर इस पर इंपोर्ट ड्यूटी अधिक है कुछ दिनों में ही सरकार यह ड्यूटी दूर करने वाली है। हालांकि कई लोग इसकी ब्लैक मार्केटिंग करके पचास हजार की मशीन का 2 लाख तक वसूल कर रहे हैं। कम असरकारक मशीन कोरोनावायरस में असरदायक नहीं है। उनका ऑक्सीजन लेवल पचासी होने के बावजूद कोरोनावायरस और लोग जानकारी के अभाव में यह खरीद रहे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें