वडोदरा : सेंट्रल जेल के 200 से अधिक कर्मचारी अपनी विभिन्न मांगों को लेकर सामूहिक मास सीएल पर उतरे

सेंट्रल जेल के बाहर बड़ी संख्या में कर्मचारी जमा हो गए

वडोदरा सेंट्रल जेल के 200 से ज्यादा कर्मचारी सामूहिक हड़ताल पर उतर गए हैं

गुजरात में अलग-अलग शहरों में जेल कर्मचारी अपनी विभिन्न मांगों को लेकर सामूहिक मास सीएल पर उतर गये हैं। विभिन्न मांगों को लेकर राज्य सरकार ने हाल ही में पुलिस कर्मियों के लिए 550 करोड़ के बजट की घोषणा की है, जिसमें जेल कर्मचारियों को शामिल नहीं किये जाने से जेल कर्मचारियों में निराशा व्याप्त हैं। राज्य सरकार और गांधीनगर को बार-बार पेशकश देने के बावजूद, बात नहीं मानने पर अंततः अपनी मांग को जेल कर्मचारी  हड़ताल शुरू कर दी है। वहीं वडोदरा में भी सेंट्रल जेल के कर्मचारी मास सीएल पर उतर गए हैं।

सेंट्रल जेल के बाहर बड़ी संख्या में महिला और पुरुष कर्मचारी जमा हो गए


वडोदरा सेंट्रल जेल के 200 से ज्यादा कर्मचारी सामूहिक हड़ताल पर चले गए हैं। सेंट्रल जेल के बाहर बड़ी संख्या में पुरुष और महिला कर्मचारी जमा हो गए। पोस्टर और नारों के साथ धरना प्रदर्शन किया गया। हाल ही में राज्य सरकार ने 550 करोड़ के पैकेज की घोषणा की थी, जिसमें सेंट्रल जेल स्टाफ के साथ अन्याय हुआ है, ऐसा पेशकश किया। जेल सिपाही, हवलदार और सूबेदार का ग्रेड पे अन्य राज्यों की तुलना में बहुत कम है।
इसकी जगह सेंट्रल जेल स्टाफ ने 2800, 3600 और 4200 की मांग की है। साथ ही पुरानी पेंशन योजना को लागू किया जाए। जैसा कि वर्तमान में अन्य सरकारी विभागों के हितों की रक्षा के लिए संघ बनाने का अधिकार है। उसके मुताबिक गुजरात जेल पुलिस को भी अपनी यूनियन या संगठन बनाने का अधिकार देने की मांग की गई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें