गुजरात के यह डॉक्टर करते हैं मात्र 50 रुपए में इलाज, फ्री में देते हैं दवाई

(Photo Credit : youtube.com)

महामारी के समय में सबसे अधिक महत्वपूर्ण पुण्य कमाना - डॉक्टर

डॉक्टर को भगवान का दूसरा स्वरूप माना जाता है। मरीज को विभिन्न प्रकार की बीमारियों से डॉक्टर ही बचाता है। कुछ ऐसे ही एक डॉक्टर की बात आज हम करने जा रहे है जो पिछले कई सालों से मानवता का अनोखा उदाहरण सभी के सामने प्रस्तुत कर रहे है। आनंद जिले में प्रेक्टिस करने वाले इस डॉक्टर का नाम है भाविन पटेल, जो की आनंद के आंकलाव में अपना क्लीनिक चलाते है। पिछले 13 साल से भाविन अपना क्लीनिक चला रहे है। 
कोरोना महामारी के बीच जहां कुछ लोग मरीजों की मजबूरी का फायदा उठाकर उनसे भी इंजेक्शन और ऑक्सीज़न की कालाबाजारी की है। वहीं भाविन पटेल मात्र 40 से 50 रुपए में मरीजों का इलाज कर रहे है। यहीं नहीं मरीजों को दवाई भी फ्री में दे रहे है। भाविन कहते है की महामारी का यह समय पैसे कमाने का नहीं है। पर पुण्य कमाने का है। 
भाविन पटेल मात्र 40 से 50 रुपए में इलाज तो कर ही रहे है पर साथ में दवाई भी मुफ्त में दे रहे है। जिसके कारण उनकी सेवाभावना की चर्चा पूरे आनंद जिले में हो रही है। भाविन पटेल की अस्पताल के बाहर भी मरीजों की काफी लंबी लाइन लगी रहती है। डॉक्टर का कहना है की आप मात्र सरकारी अस्पताल में काम करके ही नहीं पर निजी अस्पताल और छोटे क्लीनिक में भी काम करके उनकी सेवा कर सकते है। उनका मानना है की कोरोना का मरीज घर पर ही ठीक हो सकता है। जरूरत है तो बस उन्हें मानसिक सांत्वना की। जहां एक और कई निजी अस्पतालों द्वार लाखों का बिल वसूला जा रहा है ऐसे में भाविन पटेल द्वारा किया जाने वाला यह काम वाकई काबिले तारीफ है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें