सूरत के लिए अच्छी खबर है; ऑक्सीजन और रेमडीसीवीर की मांग घटी

सूरत के गौरव पथ का विहंगम दृश्‍श्‍

पिछले दिनों में सूरत में कोरोना सक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ने के कारण रेमडेसिविर इंजेक्शन की मांग में भी तेजी से इजाफा हुआ था जो कि धीरे-धीरे घट रही हो ऐसा प्रतीत हो रहा है। सूरत में रेमडेसिविर इंजेक्शन की बात करें तो डिमांड कम होने के कारण प्रशासन 75% तक इंजेक्शन की आपूर्ति कर पा रहा है।  
मरीज घटने के कारण रेमडेसिविर इंजेक्शन की मांग घटी
15 दिन पहले सूरत में कोरोना के मरीजों की संख्या बहुत ही तेजी से बढ़ रही थी तब रेमडेसिविर इंजेक्शन की भी मांग बहुत ज्यादा थी। 10 दिन पहले 272 हॉस्पिटलों को रेमडेसिविर इंजेक्शन दिए जा रहे थे लेकिन अब कोरोना संक्रमण घटने के बाद इंजेक्शन की डिमांड घटी है। शनिवार को 212 हॉस्पिटल को इंजेक्शन दिया गया था। इन हॉस्पिटलों द्वारा कोमोर्बिड, बायपेप तथा ऑक्सीजन तथा और अन्य मरीजों को मिलाकर 2687 इंजेक्शन मांगे गए थे जिसमें से कि प्रशासन ने कटौती करके 2059 इंजेक्शन दिए थे। उल्लेखनीय है कि सूरत शहर में 14 अप्रैल के बाद कोरोना की परिस्थिति विस्फोटक बनी थी और हॉस्पिटलों में तेजी से मरीज बढ़ रहे थे। उन दिनों ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ कर 242 मेट्रिक पहुंच गई थी धीरे-धीरे परिस्थिति सुधरने के बाद 164 मेट्रिक टन दिया जा रहा है। इसके मुकाबले 147 मेट्रिक टन ऑक्सीजन दिया जा रहा है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें