डायन होने की अंधश्रध्धा से भतीजों ने चाची को लकड़ी से पीटा

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo Credit : Pixabay.com)

घायल चाची अस्पताल में दाखिल, पुलिस में दर्ज करवाया मामला

समाज में अभी भी अंधश्रद्धा बहुत गंभीर तौर पर फैली है। जो कि कभी-कभी जानलेवा बन जाती है। ऐसी ही एक घटना दाहोद के सुखपुर गांव से सामने आई है। घटना में एक व्यक्ति ने अपनी चाची को ही डायन बताते हुए लकड़ी से पीटा, जिसके कारण महिला के हाथ में फ्रेकचर हो गया। गंभीर ढंग से घायल महिला को उपचार के लिए अस्पताल में दाखिल किया गया है। चाची ने इस घटना के बारे में भतीजे के खिलाफ पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू की है।
घटना इस तरह है कि दाहोद के कनसागरा में रेशम बारिया नाम की महिला अपने परिवार के साथ रहती है। रेशमा बारिया 4 तारीख को अपने घर के आंगन में जानवरों को बांध रही थी। उस दौरान रावजी बारिया और चेतन बारिया लकड़ी लेकर आए और उन्होंने रेशमा बारिया को गालियां देना शुरू कर दिया। रावजी और चेतन दोनों ही यह कह रहे थे कि तुम डायन हो। तुम्हारे कारण ही हमारे घर के लोग और पशु बीमार पड़ रहे हैं। इतना कहने के बाद दोनों ने अपनी चाची को बुरी तरह से पीटा। जिससे वह पूरी तरह से घायल हो गई। 
इस घटना में रेशमा के दाएं हाथ की कोहनी पर लकड़ी से लगने के कारण हाथ टूट गया और वह बुरी तरह से घायल हो गई। इसके बाद भी उन्होंने रेशमा को पीटना चालू रखा। रेशमा के चिल्लाने की आवाज सुनकर आसपास के लोग दौड़े आए और उन्होंने उसे छुड़ाने का प्रयास किया। रेशमा बारिया का बेटा राजू और उसकी बहू सुशीला उसे उपचार के लिए हॉस्पिटल ले गए। प्राथमिक उपचार के बाद उसे निजी हॉस्पिटल में दाखिल किया गया है। इस घटना के बाद देश में पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई है

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें