कोरोना के दृष्टिकोण से आने वाले दो महीने है बहुत महत्वपूर्ण, त्योहारों के समय फैल सकता है कोविड

(Photo Credit : oneindia.com)

केरल में दिन ब दिन कम हो रहे है कोरोना के मामले, स्थिति अभी भी चिंताजनक

देश में वर्तमान समय में कोरोना की स्थिति नियंत्रण में है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा प्रतिदिन कोरोना के बारे में जानकारी प्रदान की जाती है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने भारत में कोरोना की स्थिति के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि केरल में मामलों की संख्या में कमी आई है, लेकिन देश के 68 फीसदी दैनिक मामले अभी भी केरल में हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि केरल में 1.99 लाख से अधिक सक्रिय मामले हैं, जबकि पांच राज्यों मिजोरम, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु और महाराष्ट्र में 10,000 से अधिक सक्रिय मामले हैं।
आपको बता दें कि भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने कहा कि केरल में संक्रमण के मामले घट रहे हैं। अन्य राज्यों में भी जल्द ही मामलों में गिरावट देखने को मिलेगी।  हालांकि तीसरी लहर के खतरे के बीच आगामी त्योहारी सीजन में भी सतर्क रहने पर जोर दिया गया है।
इस बारे में डॉ. बलराम भार्गव ने कहा, "त्योहार निकट आ रहे हैं और ऐसे में लोगों की भीड़ कोरोना वायरस के प्रसार के लिए अनुकूल वातावरण बना रही है। ऐसे में हम सभी को विशेष रूप से सावधान रहने की जरूरत है।"
आपको बता दें कि नीति आयोग के सदस्य और राष्ट्रीय कोविड टास्क फोर्स के प्रमुख डॉ वीके पोल ने कहा कि त्योहारी सीजन के दौरान कोरोना के मामले बढ़ने की संभावना है। डॉ. वीके पॉल ने कहा कि अगले दो-तीन महीने भारत के लिए विशेष महत्व के हैं, ऐसे में इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि देश में कहीं भी कोरोना के मामले न बढ़ें। इस साल अब तक कोरोना के प्रकोप के जोखिम का आकलन करते हुए, डॉ वीके पोल ने कहा, "अक्टूबर और नवंबर सबसे महत्वपूर्ण महीने होने का अनुमान है और उन महीनों के दौरान कोरोना का प्रकोप बढ़ सकता है।" डॉ. पॉल ने यह भी कहा कि ये भी त्योहारों के उत्सव और फ्लू जैसी गंभीर बीमारी के महीने हैं। इन दो महीनों में हमें बहुत सावधान रहना होगा। तत्काल नियंत्रण के लिए सावधानी बरतनी चाहिए।"
गौरतलब है कि सरकार ने टीकाकरण के ताजा आंकड़े देते हुए कहा कि भारत की 20 फीसदी वयस्क आबादी को अब तक कोविड-19 वैक्सीन की दोनों खुराक दी जा चुकी है और 62 फीसदी वयस्कों को एक खुराक मिल चुकी है। सरकार ने यह भी कहा कि अब तक 57.86 करोड़ लोगों को वैक्सीन की पहली खुराक दी जा चुकी है, जबकि 18.70 करोड़ लोगों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें