सूरत में कोरोना संक्रमण नियंत्रण के लिए टेक्सटाईल मार्केट एक सप्ताह के लिए बंद

रिंग रोड़ स्थित सूरत टेक्सटाइल मार्केट का प्रवेश द्वार। (File Photo)

सूरत में कोरना संक्रमण की चेन तोडने के लिए टेक्सटाईल मार्केट सहित सभी व्यापारीक प्रवृत्तियों पर कडे नियंत्रण लगाए, राज्य सरकार के आदेश से एक सप्ताह तक बंद की अधिसूचना पुलिस आयुक्त ने जारी की।

राज्य सरकार के आदेश से सभी व्यापारीक प्रवृत्ति, दुकाने, लारी गल्ला, शो‌पिंग कोम्पलेक्ष, मॉल, कोमशिर्यल कोम्पलेक्ष पर कडे नियंत्रण
सूरत शहर में कोरोना वायरस के संक्रमण में हो रही लगातार वृध्दि के दौरान टेक्सटाईल मार्केट शनिवार और रविवार को बंद रही थी फिर भी संक्रमण पर कोई असर नही हुई। राज्य सरकार की सूचना और पुलिस आयुक्त के आदेश से 28 अप्रैल से 5 मई 2021 तक सूरत की सभी टेक्सटाईल मार्केट, शो‌पिंग कोम्पलेक्ष, मॉल, कोमशिर्यल कोम्पलेक्ष, दुकाने, लारी गल्ला सहित व्यापारीक प्रवृत्ति बंद रहेगी। 
फेडरेशन ऑफ सूरत टेक्सटाईल ट्रेडर्स एसोसिएशन (फोस्टा) के अध्यक्ष मनोज अग्रवाल और डीरेक्टर रंगानाथ शारदा ने सोश्यल मीडिया के माध्यम से जानकारी देते हुए कहा की शहर में कोरोना संक्रमण की चेन तोडने में सफलता मिले इस उदेश्य से राज्य सरकार और पुलिस आयुक्त की सूचना तथा आदेश के बाद टेक्सटाईल मार्केटों को 28 अप्रैल 2021 से 5 मई 2021 तक एक सप्ताह बंद रखने का निर्णय लिया है। आगामी 8 दिनों तक शहर की टेक्सटाईल मार्केटों में सभी प्रकार का कामकाज बंद रहेगा। 
टेक्सटाईल मार्केट बंद रखने की सूचना सोश्यल मीडिया में मार्केट बंद होने के बाद दी गई जिससे मार्केटों के व्यापारीओं में असमंजस की स्थिति बनी। कई व्यापारीओं ने कहा की बंद से पुर्व मार्केटों के अग्रणीओं को विश्वास में लेना था। बंद की सूचना अगर दिन में मिल जाती तो व्यापारी और श्रमिकों के लिए पैसे की व्यवस्था कर लेते। बेन्क का कामकाज भी पुरा कर लेते। मगर अचानक रात को बंद की सूचना से व्यापारीओं में भारी नाराजगी देखी गई। 
फोस्टा अध्यक्ष ने सोश्यल मीडिया में ओडियो मेसेज देकर और फोस्टा डिरेक्टर ने प्रेस विज्ञप्ती के माध्यम से मार्केट बंद रखने की सूचना काफी अफरातफरी में देने से व्यापारीओं में असमंजस देखा गया। मार्केट बंद करने के निर्णय के लिए फोस्टा अध्यक्ष ने कहा की राज्य सराकर के दिशानिर्देश और पुलिस आयुक्त की सुचना से यह निर्णय लिया गया है। 
मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने केंद्रीय गृह मंत्रालय के 26 अप्रैल को जारी दिशानिर्देश के संदर्भ में अतिरिक्त नियंत्रण लादने का महत्वपूर्ण निर्णय किया है। जिसके अनुसार राज्य के 8 महानगरों समेत 20 शहरों में पहले से ही लागू रात्रि कर्फ्यू का अन्य क्षेत्रों में विस्तार करते हुए अब हिम्मतनगर, पालनपुर, नवसारी, वलसाड़, पोरबंदर, बोटाद, वीरमगाम, छोटाउदेपुर और वेरावल-सोमनाथ सहित कुल 29 शहरों में रात्रि 8 से सुबह 6 बजे तक कोरोना कर्फ्यू लागू होगा। इन 29 शहरों में बुधवार, 28 अप्रैल, 2021 से बुधवार, 5 अप्रैल, 2021 तक अतिरिक्त पाबंदियां लादने का राज्य सरकार ने निर्णय किया है।  इस दौरान आवश्यक सेवाएं व गतिविधियों को ही चालू रखने का आदेश राज्य सरकार ने दिया है। कोविड-19 के कामकाज से सीधे तौर पर जुड़ी सेवाएं तथा आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी। मेडिकल, पैरामेडिकल तथा उससे संबंधित स्वास्थ्य सेवाएं तथा ऑक्सीजन उत्पादन और वितरण व्यवस्था चालू रहेगी। आम जनजीवन को कोई मुश्किल न हो और वह पूर्ववत जारी रहे उसके लिए राज्य सरकार ने डेयरी, दूध, सब्जी-फल उत्पादन, वितरण और बिक्री तथा उसकी होम डिलीवरी सेवा चालू रखने के आदेश दिए हैं।  इस अवधि के दौरान बैंकों के एटीएम में पैसों की आपूर्ति को लगातार बनाए रखने के लिए बैंक प्रबंधन को उस संबंध में ध्यान रखने के निर्देश राज्य सरकार ने दिए हैं। 
इस दौरान दुकानें, वाणिज्यिक संस्थान, रेस्तरां (टेक अवे को छोड़कर), सभी ठेले-गुमटी, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, साप्ताहिक गुजरी बाजार या हाट, शैक्षणिक संस्था और कोचिंग सेंटर (ऑनलाइन शिक्षा को छोड़), सिनेमा-थियेटर, ऑडिटोरियम, एसेंबली हॉल, वाटर पार्क, सार्वजनिक बाग-बगीचे, मनोरंजन स्थल, सैलून-स्पा व ब्यूटी पार्लर, जिम, स्विमिंग पूल के अतिरिक्त हर तरह के मॉल तथा कमर्शियल कॉम्प्लेक्स सहित तमाम आर्थिक और व्यापारिक गतिविधियां बंद रहेंगी। सभी मार्केटिंग यार्ड और मार्केट बंद रहेंगे। इस आदेश का भंग करने पर एकेडेमिक एक्ट के तहत कार्यवाही होगी। 


इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें