जन्मदिन मना रहे है सूर्यकुमार यादव, जानें कैसे गलियों में क्रिकेट खेलते-खेलते मिल गया भारतीय टीम में स्थान

(Photo Credit : instagram.com)

30 साल की उम्र में मिला था टीम इंडिया में स्थान, आज भारत के सबसे विस्फोटक बल्लेबाजों में से एक

सूर्यकुमार यादव इन दिनों भारतीय क्रिकेट के सबसे चर्चित खिलाड़ी हैं। किसी और स्टार की इतनी चर्चा नहीं है। इसके पीछे का कारण टीम इंडिया में क्रिकेटरों का लगातार अच्छा प्रदर्शन है। लेकिन उनका यहां तक ​​पहुंचने का सफर आसान नहीं था। काफी मेहनत के बाद उन्हें टीम इंडिया में जगह मिली है. और वह वर्तमान में उसका पूरा लाभ उठा रहे हैं। 
सूर्यकुमार यादव का जन्म 14 सितंबर 1990 को हुआ था। उनके पिता अशोक कुमार यादव मूल रूप से उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं। वह इलेक्ट्रिकल इंजीनियर के तौर पर मुंबई आए थे। मुंबई में रहने वाले सूर्य जब 10 साल की उम्र में गली क्रिकेट खेल रहे थे, तब पिता ने देखा कि उनके बेटे में खेल के प्रति रुचि है। इसलिए उन्होंने 12 साल की उम्र में एल्फ वेंगसरकर अकादमी में सूर्या का दाखिला लिया। यहां दिलीप वेंगसरकर ने उन्हें क्रिकेट की ट्रेनिंग दी।
सूर्यकुमार यादव घरेलू क्रिकेट में धूम मचाने के बाद 2012 में आईपीएल टीम मुंबई इंडियंस में शामिल हुए थे। दो साल तक मुंबई की टीम में खेलने के बाद 2014 में कोलकाता नाइट राइडर्स ने अपनी टीम में चुना था। तब टीम के कप्तान गौतम गंभीर थे और उन्होंने सूर्या को फिनिशर का रोल दिया। यहां उन्होंने कुछ शानदार पारियां खेली। उन्हें उनके इस प्रदर्शन के बदौलत सूर्या को केकेआर का उपकप्तान बना दिया। 2018 में, सूर्या को फिर से मुंबई 3.20 करोड़ रुपए में फिर से अपनी टीम में वापिस ले लिया। मुंबई की टीम में वापिस आने के बाद सूर्या ने रनों का अंबार लगाना शुरू कर दिया। 
मार्च 2010 में टी20 मैच के माध्यम से मुंबई के लिए स्थानीय क्रिकेट में डेब्यू किया। फिर नौ महीने के भीतर उन्होंने प्रथम श्रेणी और लिस्ट A करियर का आगाज किया। उन्होंने अब तक 77 प्रथम श्रेणी मैचों में 5326 रन, 101 लिस्ट ए मैचों में 2903 और 181 टी20 मैचों में 3879 रन बनाए हैं। साल 2021 में इंग्लैंड के खिलाफ घर में टी20 सीरीज के लिए सूर्यकुमार यादव को भारतीय टीम में चुना गया था। यहां उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की पहली ही गेंद पर छक्का लगाया। उन्होंने शॉर्ट पिच गेंद पर जोफ्रा आर्चर को छक्का लगाया। इसके बाद उन्होंने पहले मैच में अर्धशतक भी लगाया।
इस तरह सूर्या ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में धमाकेदार एंट्री की। इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में श्रेयस अय्यर के चोटिल होने के बाद सूर्या को भी वनडे टीम में शामिल किया गया था लेकिन वह यहां नहीं खेल सके। सूर्यकुमार यादव और देवीशा शेट्टी दोनों मुंबई के आरए पोदार कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स के छात्र हैं। यहीं पर दोनों की पहली मुलाकात हुई और फिर प्यार हो गया। सूर्यकुमार और देवीशा ने कुछ सालों तक डेट किया और फिर जुलाई 2016 में शादी कर ली। देविशा पेशे से डांस कोच हैं। वह साउथ फैमिली से ताल्लुक रखती हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें