सूरत : दो दिनों तक पानी की टंकी पर फंसे रहे बंदर को दमकल स्टाफ ने बचाया

दमकल विभाग ने टंकी पर फंस बंदर को सुरक्षित नीचे उतारा

दो घंटे तक टंकी के पास हाइड्रोलिक प्लेटफॉर्म सटाकर दमकल जवानों ने बंदर के नीचे आने का ‌इंतजार किया

60 फीट ऊंचे वोटर टैंक पर चढ़े कपीराज को फायर ब्रिगेड ने लैंडर से सुरक्षित बाचाया
सूरत के अलथान-भीमराड मार्ग पर नगर निगम की पानी टंकी पर फायर ब्रिगेड बंदर पर चढ़े बंदर को उतारने के लिए डेढ़ से ढाई घंटे तक बैठी रही। स्थानिय लोगों ने बताया की पिछले दो दिनों से बदर इस टंकी पर फंसा हुआ है। बंदर जैसे तैसे टंकी पर चढ़ तो गया मगर उतरने का रास्ता भुल गया था। दो दिनों से बिना कुछ खाए पीए असह्य गर्मी में बंदर टंक पर ही रहा। 
दमकल विभाग ने टंकी पर फंस बंदर को सुरक्षित नीचे उतारा

दमकल विभाग से मिली जानकारी के अनुसार अलथान-भीमराड मार्ग पर नगर पालिका की 60 फीट ऊंची पानी की टंकी पर एक बंदर चढ़ गया। जिससे वहां बड़ी संख्या में लोग जमा हो गए थे। दमकल को इसकी सूचना देते हुए वेसु फायर  दमकल अधिकारी हरीश गढ़वी ने कहा कि स्टेशन की एक टीम मौके पर पहुंची और दमकल की टीम हाइड्रोलिक प्लेटफॉर्म की मदद से टैंक के पास गई और बंदर को उतारने का प्रयास किया। लेकिन प्लेटफार्म ट्रॉली में दमकल जवान को खड़ा देख बंदर भाग गया। इसलिए फायर ब्रिगेड की टीम ने पानी की टंकी से टकराकर हाइड्रोलिक प्लेटफॉर्म खड़ा कर दिया। दमकल की टीम भी मौके पर मौजूद लोगों को वहा से दुर हटाने का प्रयास किया तांकी बंदर बाहर निकाल सके। हालांकि ढाई घंटे के इंतजार के बाद बंदर हाइड्रोलिक प्लेटफॉर्म की सीढ़ी पकड़कर सीढ़ियों से नीचे चला गया। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें