सूरत : यात्रियों के पास नहीं थी आरटी-पीसीआर रिपोर्ट तो नहीं मिली फ्लाइट में बैठने की अनुमति

सूरत से भुवनेश्वर जाने वाली फ्लाइट के 127 में से 75 यात्री घर की ओर और बाकि के 52 यात्री भुवनेश्वर को हुए रवाना

राज्य में तेजी से फ़ैल रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए राज्य के प्रमुख जिलों में रात्रि कर्फ्यू जैसी कई प्रतिबंधों के साथ राज्य में प्रवेश करने वाले सभी यात्रियों को अपना 48 घंटों के भीतर कराया हुआ कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य कर दिया गया है। ऐसे में राज्य में प्रवेश करने वाले या राज्य से बाहर जाने वाले प्रत्येक पर्यटक के कोरोना के परीक्षण पर जोर दिया जा रहा है। इसमें सड़क यात्रा के साथ साथ हवाई यात्रा करने वाले लोगों का समावेश होता है। हवाई यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए अनिवार्य आरटी-पीसीआर परीक्षणों के कारण नियम के कारण यात्रियों को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा हैं। ऐसे में सने आए एक ताजा जानकारी के अनुसार सूरत से भुवनेश्वर जाने वाली फ्लाइट में यात्रा करने वाले कई  यात्री रिपोर्ट ना होने के कारण अपनी यात्रा नहीं कर सके।
जानकारी के अनुसार सूरत से भुवनेश्वर जाने वाली फ्लाइट से कुल 127 यात्री यात्रा करने वाले थे। लेकिन इन सभी में से मात्र 52 ही यात्रियों ने अपना आरटी-पीसीआर टेस्ट करवा था और उसकी रिपोर्ट अपने पास रखी थी जबकि 75 जितने यात्रियों के पास आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट नहीं थी। ऐसे में बिना रिपोर्ट वाले यात्रियों को टर्मिनल के अंदर भी प्रवेश नहीं दिया गया। टर्मिनल में प्रवेश ना मिलने से हवाई अड्डे के बाहर हंगामा मच गया। इस बीच पुलिस ने बीच बचाव करते हुए मामला सँभाल लिया और नियमों का हवाला देते हुए सभी बिना आरटी-पीसीआर रिपोर्ट वाले यात्रियों को वापस घर भेज दिया। 
गौरतलब है कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए हवाली यात्रा के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है। ऐसे में बिना आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट वाले यात्रियों को यात्रा की अनुमति नहीं दी जाती। इस मामले में एयरलाइन्स ने भी यात्रियों की मदद करने की कोशिश की और कुछ यात्रियों को किसी और दिन यात्रा करने की अनुमति दी, जबकि कुछ लोगों को उनके पैसे वापस कर दिए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें