सूरत : पालिका ने भेस्तान में 270 खाली मकान किराए पर देने की योजना बनाई

एजेंसी को 270 आवासों के साथ-साथ प्राथमिक सुविधाओं में मरम्मत का कार्य करना होगा।

निगम को आय और श्रमिकों को रहने के लिए एक छत मिलेगी

जरूरतमंदों को आवास मुहैया कराने का काम करेगी एजेंसी
 अफोर्डेबल रेंटल हाउसिंग कॉम्प्लेक्स योजना के तहत सूरत के सचिन क्षेत्र में 396 आवास  को किराये पर देने का ठेका सुडा को दिए जाने के बाद अब सूरत नगर निगम भी इस योजना के तहत भेस्तान के 270 आवास श्रमिकों, मजदूरों और गरीबों को किराए पर देने का टेंडर जारी करेगा। नगर पालिका जिस आवास में मरम्मत की तत्काल आवश्यकता है, उसके मरम्मत का कार्य एजेंसी द्वारा कराएगी। पालिका उस एजेंसी को ठेका देगा जो इस रेंटल हाउसिंग प्रोजेक्ट के लिए आगे की पेशकश करेगी। इस अनुबंध का प्रस्ताव अगली स्थायी समिति के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा।
आत्मनिर्भर भारत अभियान अंतर्गत प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) किफायती रेंटल हाउसिंग कॉम्प्लेक्स पॉलिसी को पा‌लिका प्रशासन अमल करने जा रही है। जिस प्रकार सुडा द्वारा सचिन के मकानों को  किराये पर देने का ठेका दिया गया है, उसी प्रकार टी.पी. योजना क्रमांक 62-डिंडोली, भेस्तान भेदवाड़ में फायनल प्लॉट क्रमांक आर-27 में 270 मकानों का निर्माण कराया गया है, उसे श्रमिकों-गरीबों को किराए पर देने की योजना है। 
नगर पालिका द्वारा जारी टेंडर में एजेंसी को 270 घरों के साथ-साथ प्राथमिक सुविधाओं की मरम्मत का कार्य करना होगा। सबसे अधिक बोली लगाने वाले को ठेका दिया जाएगा। ठेका एजेंसी जरूरतमंदों को आवास मुहैया कराएगी। यह ठेका अधिकतम 25 वर्षों के लिए दिया जाएगा। जिसके सामने एजेंसी को नगर पालिका को प्रीमियम देना होगा। 25 साल के अनुबंध की समाप्ति के बाद ठेका एजेंसी को आवास का कब्जा नगर पालिका को सौंपना होगा। ठेकेदार परियोजना की सीमा के भीतर अस्पताल, आंगनबाडी, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, किराना दुकान, सब्जी दूध की दुकान आदि संचालित कर सकेगा। 
इसके लिए सरकार की ओर से दो मॉडल तैयार किए गए हैं, जिसमें  पालिका के आवास के अलावा डेवलपर्स अपनी जगह पर आवास का निर्माण कर सकेगा। निगम के साथ समझौता कर डेवलपर्स-बिल्डर को सरकार विशेष राहत देगी। हालांकि अभी तक इस श्रेणी में कोई प्रस्ताव प्राप्त नहीं हुआ है लेकिन पालिका भेस्तान स्थित आवास भाड़े पर देने के लिए आगामी दिनों में निर्णय लिया जा सकता है।  

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें