सूरत : शहर में कोरोना से मरने वालों को न्याय दिलाने के लिए आयोजित न्याय यात्रा का एक माह पूर्ण

सूरत शहर कांग्रेस प्रमुख नैषद देसाई जानकारी देते हुए।

हार्वर्ड रिसर्च इंस्टीट्यूट द्वारा कराए गए सर्वे में गुजरात में 2.81 लाख लोगों की मौत : नैषद देसाई

फॉर्म में सभी विवरण एकत्र करने के लिए कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं द्वारा हजारों परिवारों से आमने-सामने मुलाकात की जाएगी।
कांग्रेस ने पिछले एक महीने से पूरे गुजरात में यात्रा शुरू की है। इस बीच, कोरोना से मौत के शिकार हुए परिवार के सदस्यों से सभी विवरण एकत्र करने के लिए फॉर्म भरे जा रहे हैं। सूरत में भी अब तक 8327 फॉर्म भरे जा चुके हैं। कांग्रेस अभी भी दिवाली तक फॉर्म भरना शुरू करेगी। गुजरात में कोरोना संक्रमण के दौरान विभिन्न सुविधाओं के अभाव में कई लोगों की मौत हो गई, खासकर कोरोना संक्रमण काल ​​में, ऑक्सीजन की कमी, जीवन रक्षक इंजेक्शन की कमी से लोगों की जान चली गई है।
यात्रा सभी लोगों के परिवारों को न्याय दिलाने के उद्देश्य से शुरू की गई है। कांग्रेस कोरोना संक्रमण से मरने वालों के परिवारों को 4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने के साथ-साथ उनके लिए सरकार से रोजगार की मांग कर रही है। गुजरात भर में कोरोना से मृत्यु प्राप्त लोगों के घर के भीतर सभी परिवारों से संपर्क किया जा रहा है और इस प्रकार दिवाली तक हजारों परिवार कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं से आमने-सामने मिलेंगे और फॉर्म में सभी विवरण एकत्र करेंगे।
कांग्रेस नेता नैषद देसाई ने कहा कि लोगों को जिस तरह से सुविधा की जरूरत है,  भाजपा की सरकार उस प्रकार की कोई सुविधा स्थापित नहीं की गई है। यही कारण है कि  अकेले गुजरात में ही लाखों लोग कोरोना से मर चुके हैं। सरकार हमेशा आंकड़े छिपाने में माहिर रही है। सरकार की वाहवाही हो ऐसे आंकड़े को बड़े पैमाने पर जाहिर करती है, लेकिन जिस आंकड़े से सरकार की बदनामी हो ऐसे  आंकड़े छिपाने की हर संभव कोशिश करते हैं, जैसे कोरोना के आंकड़े छिपाए गए हैं। कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता कोरोना से मारे गए लोगों के परिवारों तक पहुंचेंगे और उन्हें न्याय दिलाने का प्रयास करेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें