सूरत : घर में काम कर जीवनयापन करने वाली महिला को मुंबई सीमा शुल्क विभाग ने भेजा 4 करोड़ का नोटिस

नोटिस पाने वाली महिला है इस पुरे मामले से अंजान

मुंबई सीमा शुल्क विभाग ने नानपुरा में रहने वाली एक गृहिणी को 4.5 करोड़ रुपये का नोटिस भेजा है। मुंबई कस्टम विभाग की ओर से भेजे गए नोटिस में एक नोटिस में 3.5 करोड़ रुपये और दूसरे नोटिस में 1 करोड़ रुपये ड्यूटी ड्रा बैक देने की बात कही गई है।
हालांकि, दूसरी ओर जिस महिला को सीमा शुल्क विभाग ने नोटिस भेजा है, उसने यह भी नहीं देखा है कि जीएसटी कार्यालय कहां से आया है और पूरे मामले से अनजान है। महिला के करीबी रिश्तेदारों का कहना है कि महिला के एक करीबी रिश्तेदार की पहचान अडाजन पाटिया में रहने वाले जीएसटी घोटालेबाज से हुई। इस दौरान उसे कुछ दस्तावेज सौंपे गए। आशंका जताई जा रही है कि इसी दस्तावेज के आधार पर सारा खेल खेला गया। इस संबंध में जल्द ही पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई जा सकती है।
पूरा खेल वर्ष 2014-2018 के दौरान मुंबई के  नवासोवा पोर्ट से खेला गया था। फर्म चौक बाजार जुम्मा मस्जिद की गली के पीछे खोली गई और सरकार की ड्यूटी ड्रॉ बैक योजना का फायदा उठाया गया। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि इस योजना के तहत, सरकार कुछ लक्षित निर्यात के बाद शुल्क वापसी का लाभ देती है। छोटे लोग फर्म के कागज के पीछे भण्डारियों द्वारा फंस जाते हैं। मुंबई कस्टम रिकवरी सेल ने 2 नोटिस जारी किए और 15 दिनों के भीतर जवाब मांगा। विवाद के बाद दोनों पक्षों के बीच एक नोटिस को लेकर वाद-विवाद हो गया है। अब यह विवाद पुलिस आयुक्त कार्यालय तक पहुंचने की संभावना है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें