सूरतः विधायक ने भाजपा में शामिल होने के लिए 3 करोड़ की ऑफर दी : आप महिला पार्षद

सूरत में आम आदमी पार्टी की महिला पार्षद ऋता दुधागरा

सूरत में आम आदमी पार्टी की महिला पार्षद ने आरोप लगाया कि उसे ३ करोड रूपये का लालच देकर भाजपा में शामिल करना चाहते थे, विधायक ने उसके पति को २५ लाख रुपये देकर भाजपा में शामिल करने का आरोप भी लगाया।

पति चिराग दुधागरा 25 लाख रुपये लेकर भाजपा में शामिल हो गया
एक दिन पूर्व ही सूरत की मुलाकात पर आए आम आदमी पार्टी के गुजरात प्रभारी ईसूदान गढवी ने भारती जनता पार्टी पर आरोप लगाया था की आप के पार्षदों को पार्टी छोडकर भाजपा में शामिल होने के लिए बडी बडी ऑफर दी जा रही है। मगर वह आम आदमी पार्टी के नगरसेवकों को तोडने में नाकाम साबित हुए है इस बात के दुसरे दिन ही आम आदमी पार्टी (आप) की महिला नगर पार्षद ऋता दुधागरा ने कामरेज से भाजपा विधायक वीडी झालावाडिया पर गंभीर आरोप लगाया है । ऋता दुधागरा का आरोप है कि भाजपा में शामिल होने के लिए झालावाडिया ने उन्हें तीन करोड़ रुपए की ऑफर दी है। दुधागरा का यह भी कहना है कि उनके पति द्वारा भी भाजपा में शामिल होने का दबाव डाला गया| इस विवाद को लेकर उनका दांपत्यजीवन टूट गया और दोनों तलाक लेकर अलग हो चुके हैं। सूरत महानगर पालिका के वार्ड संख्या 3 से बड़े मार्जिन से जीत दर्ज करने वाली आप की महिला नगर पार्षद ऋता दुधागरा ने भाजपा विधायक पर दल बदलने के लिए रुपयों की ऑफर देने के गंभीर आरोप लगाकर सनसनी फैल दी है । प्रेस वार्ता में ऋता दुधागरा ने कहा कि मेरी भव्य जीत के चलते पिछले काफी समय से कामरेज के भाजपा विधायक वीडी झालावाडिया अलग अलग व्यक्तियों को भेज मुझे भाजपा में शामिल होने की ऑफर दे रहे हैं। झालावाडिया ने भाजपा में शामिल होने पर तीन करोड़ रुपए की ऑफर भेजी है । इस मामले में दुधागरा ने अपने पति चिराग दुधागरा पर भी आरोप लगाने के साथ बताया कि उनके पति ऑफर स्वीकार करने का दबाव डाल रहे थे। लेकिन उनके टस से मस नहीं होने पर चिराग ने पार्टी और समाज में बदनाम करने की साजिश भी रची। मजबूर होकर गत 21 मई को चिराग से अलग होने यानी डिवोर्स लेने का फैसला कर लिया। फिलहाल हम दोनों अलग हो चुके हैं। ऋता दुधागरा ने आरोप लगाया कि चिराग दुधागरा रु. 25 लाख लेकर भाजपा में शामिल हो गए हैं। 
किसी को नही छोडुंगा जिसने मेरा घर तोडा है: ऋता का पति चिराग दुधागरा
इस बारे में ऋता दुधागरा के पति चिराग दुधागरा ने कहा, ''मैं किसी को नहीं छोडूंगा, मेरा घर तोड दिया गया है.'' इसे आप की पापलीला कह सकते है। मैंने आम आदमी पार्टी का भरोसा बरकरार रखा है। लगता है ऋता ने दबाव में प्रेस कांफ्रेंस की है। ऋता का कहना है कि उन्हें 3 करोड़ रुपये का प्रस्ताव मिला है।अगर कोई सबूत है, उन्हें आवेदन लिखना नहीं आता है, तो इतना बड़ा प्रस्ताव कौन देगा? मैं किसी बीजेपी नेता से नहीं मिला हूं और उन्हें जानता भी नहीं हूं।  मेरा किसी से कोई रिश्ता नहीं है, किसी को उस पार्टी से कोई लेना-देना नहीं है, तो साबित करो कि मैंने 25 लाख रुपये लिए। चुनाव से पहले फॉर्म वापस लेने के लिए 2.5 करोड़ रुपये की पेशकश की गई थी। कई दोस्त और राजनेता मुझे समझाते थे कि मगर मैंने तब ढाई करोड रुपये नही लिए तो आज 25 लाख रुपये लुंगा ? मैं तलाकशुदा नहीं हूं, ऋता ने बहन की मां को सबूत देने के लिए मेरे साथ एक फर्जी तलाक के कागज पर हस्ताक्षर किए कि वह वेसु में अपनी बहन के साथ रहती है। फिर कुछ दिनों बाद वह कागज मेरे सामने फाड दिया गया। मैं सभी के खिलाफ कार्रवाई करूंगा। जिसने मेरे घर को उजाड़ने में भूमिका निभाई है।
मैं उन्हें जानता तक नहीं - विधायक वी.डी. झालावाड़िया
कामराज विधायक वी.डी. झालावाड़िया ने कहा कि यह सरासर झूठ है.,निराधार है। मैं ऋता दुधागरा को नहीं जानता। मेरा विषय बाहर है, मैंने कोई ऑफरनहीं दिया। मुझे आज इस आरोप के बाद पता चला कि वह तलाकशुदा है। उसके पति को 25 लाख रुपये देने का कोई मतलब नहीं है, लेकिन अगर वे आरोप लगाते हैं, तो वे आगे आकर डिबेट में भाग ले। ऐसे में पूरी आम आदमी पार्टी उन्माद में है, इसलिए मनगढ़ंत आरोप लगा रही है। 


इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें