सूरत : पैकेजिंग मटेरियल्स में भी दाम बढ़ोत्तरी से व्यापारियों की मुश्किलोंं में हुआ इजाफा

सूरत शहर के टेक्सटाईल मार्केट का नजारा

मिलों के जॉबचार्ज के बाद पैकेजिंग मटेरियल्स में 90 से 300 रूपये तक की दाम बढ़ोत्तरी

प्रोससर्स इकाईयों ने कच्चे माल के दामों में बढ़ोत्तरी के कारण जॉब चार्ज बढ़ा दिया है, ऐसे में पैकेजिंग इंडस्ट्रीज ने भी रो-मटेरियल्स पेक करने के लिए इस्तेमाल होने वाले कार्टून, कोरूगेटेड बॉक्स और प्लास्टिक सीट के दामों में 10 से 15 फीसदी वृद्धि की है। व्यापारी और पैकेजिंग मटेरियल्स सप्लाय करने वाले ट्रेडर्स ने बताया कि दो दिन पूर्व ही जो कार्टून 200 रूपये में बिकता था अब उसका भाव बढक़र 300 रूपये हो गया। 
नवरात्रि से लेकर दिवाली तक का सिजन कपड़ा कारोबार के लिए महत्वपूर्ण कहा जाता है। बाहरगांव के व्यापारी दिवाली ही नहीं बल्कि दिवाली के बाद लग्नसरा के लिए भी साड़ी, लहेंगा, ड्रेस मटेरियल्स के आर्डर सूरत के व्यापारियों को देते है।
कोरोना संक्रमण घटने के साथ ही उत्तर-दक्षिण भारत के शहरों से व्यापारियों को अच्छे ऑर्डर मिल रहे है। रोजाना 350 ट्रक भरकर कपड़ों की डिलीवरी करनी पड़ रही है। वहीं कमाई के सामने अवरोधरूप प्रोसेसिंग चार्ज के साथ पैकेजिंग चार्ज में भी वृद्धि हो गई है। कपड़ा व्यापारी ने बताया कि पिछले वर्ष सिर्फ 10 से 12 दिनों के सिजन में 6 हजार करोड़ से ज्यादा का व्यापार सूरत के व्यापारियों को मिला था।  इस बार व्यापार 7500 करोड़ से भी ज्यादा है। इसके पीछे का कारण मिले बंद रहने का मैसेज बाहरी व्यापारियों को मिलना माना जा रहा है, जिससे माल की बुकिंग मिल रही है।
फोस्टा डायरेक्टर रंगनाथ सारड़ा ने बताया कि गत वर्ष कोरोना के बाद दिवाली का कारोबार के लिए केवल 7 दिन मिले थे। इस बार महिना है। जिसके कारण 1000 करोड़ का कारोबार ज्यादा मिला है। हालांकि इसके सामने प्रोसेसिंग चार्ज में 10 से 20 फीसदी, ट्रांसपोर्ट चार्ज में 20 फीसदी और अब पैकेजिंग चार्ज में 15 फीसदी वृद्धि सभी नफा खा जाएगा।
पैकेजिंग मटेरियल्स ट्रेडर रवि सोमाणी ने बताया कि सूरत में पैकेजिंग मटेरियल्स के साथ जुड़े 30 से 40 मिले और 400 ट्रेडर्स होंगे। पैकेजिंग मटेरियल्स का ट्रेडिंग करने वाले व्यापारी भी भाव वृद्धि के लिए मजबूर है। रो- मटेरियल्स की शोर्ट सप्लाय तो है साथ ही पर्याप्त जत्था में मार्केट में मटेरियल्स उपलब्ध नहीं है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें