सूरत : भाजपा को गुंडा कहने पर स्वास्थ्य मंत्री ने आप को दिया जवाब, जानें क्या कहा

कुमार कनानी ने आप नेताओं को पुराने दंगे को याद कराया

कहा, "आप ही हैं जिन्होंने हमारे घर और कार्यालय पर हमला किया था

कुछ युवकों द्वारा आप के प्रदेश अध्यक्ष गोपाल इटालिया के घर विरोध प्रदर्शन करने के बाद आप के नेताओं ने भाजपा पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा, "भाजपा नेता हम पर हमला कर रहे हैं, हमारे घर जा रहे हैं और हमारी मां-बहनों के साथ अभद्र व्यवहार कर विरोध कर रहे हैं।" आप नेता इसुदान ने भारतीय जनता पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को गुंडा तत्व जैसे शब्द का प्रयोग किया है। सूरत की वराछा विधानसभा सीट से विधायक और स्वास्थ्य राज्य मंत्री कुमार कनानी ने इसे लेकर आम आदमी पार्टी के नेताओं पर पलटवार किया है। सोशल मीडिया के माध्यम से वह आप नेताओं के साथ भिड़ गये और उन्हें गोपाल इटालिया सहित अपने घर और कार्यालय पर पिछले हमलों की याद दिला दी।
स्वास्थ्य मंत्री कुमार कनाणी ने सोशल मीडिया पर साझा किया कि गोपाल इटालिया और उनकी टीम ने अतीत में किस तरह का हमला किया है। पाटीदार आरक्षण आंदोलन के दौरान समर्थकों की भीड़ ने हमारे घर में घुसने की कोशिश की और मेरी पत्नी और बहू के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया था। आप ने हमारी सामाजिक गतिविधियां होने नहीं देते थे। हमारे कार्यक्रम में बवाल मचाते थे। गांड़िया जलाते थे। कनानी ने कहा कि आप देर रात हमारे कार्यालय पर हमला कर रहे थे।"
आपके नेता लगातार बयान दे रहे हैं कि भाजपा नेता मारना चाहते हैं। लेकिन हम तुम्हें मारना नहीं चाहते क्योंकि हमें तुम्हें मारने की जरूरत नहीं है। लोग तुम्हें मार देंगे। चुनाव में आप की मदद न करके लोग आपको राजनीतिक रूप से मार देंगे। हमें इसमें कुछ नहीं करना है। भारतीय जनता पार्टी के पास यह संस्कार नहीं है कि हम किसी को मारें। जब आप में शामिल हुए महेश सवानी के कार्यक्रम में अमित शाह पहुंचे तो किसने उन कार्यक्रमों में तूफान खड़ा किया था। ये सभी लीलाएं तुम लोग (आप) के लोग किया करते थे।  
जिन युवकों ने तुम्हारे घर जाकर विरोध किया है। जिनकी भावनाओं को ठेस पहुंचेगी तो वे इसका विरोध करेंगे। हालांकि हम इस तरह के विरोध का समर्थन नहीं करते हैं। आप हिंदू हैं, हिंदू धर्म को मानने वालों की भावनाएं आहत की हैं। ऐसे लोगों को भाजपा को भीतर से जवाबदेह ठहराने की गंदी राजनीति से बाहर आने की जरूरत है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें