सूरत : पांडेसरा की आकृति मिल में लगी आग, दो मजदूर झुलसे, जान बचाने महिला सहित 7 कुदे

डाईंग मिल में लगी आग के बाद बचाव काम करते दमकलकर्मी

पांडेसरा की आकृति डाईंग मील में आग लग गई, दमकल विभाग ने तत्काल घटनास्थल पर पहुंचकर आग पर काबु पाया और घायलों को चिकित्सा के लिए अस्पताल ले गए

सूरत के पांडेसरा स्थित आकृति डाईंग मिल में अचानक आग लग गई। जिसके बाद मिल में अफरा तफरी की स्थिति थी। आग की इस घटना में झुलसे दो लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एक कर्मचारी ने पहली मंजिल से छलांग लगाई तो उसे अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया। चार दमकल केंद्रों की 10 से अधिक गाडिय़ों ने मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पाया। मिल में फंसे 15 से अधिक लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया।एक महिला ने जान बचाने के लिए छलांग लगाई तो उसकी हड्डी टूट गई।

आकृति मिल में आग लग गई


सूरत में आग लगने की एक और घटना सामने आई है। सूरत के पांडेसरा जीआईडीसी स्थित आकृति डाइंग मिल में आज दोपहर अचानक आग लग गई। जिससे इलाके में पहले ही अफरातफरी का माहौल बन गया था। घटना की सूचना विभाग को देने के बाद दमकल की टीम तत्काल मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाने के प्रयास किए गए।

10 से ज्यादा वाहनों में आग लग गई 


दमकल विभाग से मिली जानकारी के अनुसार सूरत के पांडेसरा जीआईडीसी स्थित आकृति डाईंग मिल में अचानक आग लगने की सूचना मिली। लिहाजा दमकल विभाग का काफिला मौके पर पहुंचा। जिस तरह से घटना की सूचना दी गई, उसे लेकर चार अलग-अलग फाइल विभागों की गाड़ियां घटना स्थल पर भेजी गईं। आग पर काबू पाने के लिए मजूरा, डिंडोली, मान दरवाजा और भेस्तान दमकल विभाग की 10 से ज्यादा गाड़ियां मौके पर पहुंच गईं। घटना को लेकर दमकल विभाग ने आग पर पानी का प्रयोग कर आग पर काबू पाया।

मिल की सेंटर मशीन से आग लग गई


दमकल विभाग की सूचना पर स्टाफ ने घटनास्थल पर पहुंचकर आग पर तत्काल काबू पा लिया गया। इसके कारणों की पड़ताल करने पर पता चला कि मिल के सेंटर मशीन में किसी कारण से आग लग गई थी। देखते ही देखते आग फैल गई थी। आग से तीन मीलों तक धुआं फैल गया। मशीन के पास काफी मात्रा में ग्रे कपड़ा और तेल गिरा हुआ था। तभी आग लगने से ग्रे कपड़े और तेल की टंकी आग की चपेट में आ गई और आग और ज्यादा फैल गई।

अगलगी की घटना में दो कर्मचारी झुलस गये, एक गिर गया


मिल में आग लगने की सूचना मिलते ही मिल में काम कर रहे कर्मचारी भाग खड़े हुए। आग से बचने के लिए एक कर्मचारी ने पहली मंजिल से छलांग लगा दी और उसे इलाज के लिए सिविल अस्पताल ले जाया गया। इस घटना में दो कर्मचारी 25 से 30 फीसदी तक झुलस गए। मशीन के पास काम करने के दौरान 50 वर्षीय दिनेशभाई और 41 वर्षीय सुनशुन यादव दोनों मजदूर आग की चपेट में आ गए। झुलसे दोनों कर्मचारियों को तत्काल इलाज के लिए सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

आग में आठ कर्मचारियों की दम घुटने की असर दिखी 


मिल की सेंटर मशीन में आग लग गई और आसपास का तेल व कपड़ा जल गया। जिससे आसपास की तीन मीलों तक धुंआ फैल गया। उस वक्त मिल में काम करने वाली महिला कर्मचारियों से लेकर पुरुष कर्मचारी इस धुएं के शिकार थे। इस घटना में दो कर्मचारी झुलस गए और आठ कर्मचारी धुएं के कारण घायल हो गए। जिसमें लक्ष्मी कुमारी (44 वर्ष), लीम सेठी (20 वर्ष), पूजा सेठी (18 वर्ष), सोनादेवी पासवान (25 वर्ष), शशिकांत देवारी (36 वर्ष), ममता कुमारी (18 वर्ष), सीमाराव शंकर यादव (42 वर्ष) ) और सुनंदा देवीदास मिजान (33 वर्ष)। ) ये सभी कर्मचारी धुएं के संपर्क में आने से घायल हो गए। उन्हें तुरंत बाहर निकाला गया और इलाज किया गया।

आग से 10 से 15 कर्मचारियों को बचा लिया गया


आग की इस घटना से यहां अफरातफरी मच गई। धुएं के गुबार नजर आए। कारीगर व कर्मचारी जान बचाकर भागे। आग लगने की घटना स्थल पर पहुंचकर आग पर काबू पाने के साथ ही कर्मचारियों को भी रेस्क्यू किया गया. मिल की दूसरी मंजिल पर फंसे करीब 15 कर्मचारियों को दमकल विभाग ने हाइड्रॉलिक मशीन और सीढ़ी की मदद से बाहर निकाला।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें