सूरतः वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय की ऑनलाइन परीक्षा के मॉक टेस्ट में खामी, छात्रों ने किया विरोध प्रदर्शन

निजी कंपनी को ठेका देने के बावजूद छात्रों को परेशान होना पड़ रहा है।

परीक्षा में तकनीकी क्षति के कारण छात्र परीक्षा नहीं दे सके

वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय द्वारा ऑनलाइन परीक्षा आयोजित की गई है। बीबीए, बीएससी, बी.कॉम, बीसीए के एटीकेटी के छात्रों की ऑनलाइन परीक्षा 18 जून को ली जाएगी। जिसको लेकर विश्वविद्यालय द्वारा मॉक टेस्ट का आयोजन किया गया है। गुरुवार एवं शुक्रवार को छात्र मॉक टेस्ट के लिए बैठे थे, लेकिन तकनीकी खराबी के कारण मॉक टेस्ट नहीं दे सके। बड़ा सवाल यह है कि क्या विश्वविद्यालय द्वारा 18 जून को ऑनलाइन परीक्षा ठीक से आयोजित की जाएगी। छात्रों ने कुलपति के समक्ष विरोध प्रदर्शन कर तकनिकी खराबी के संदर्भ में पेशकश की। 
छात्र युवा संघर्ष समिति द्वारा शुक्रवार को वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय के कुलाधिपति से पेशकश की गई। प्रदर्शन करने आए छात्रों को देखकर विवि का गेट बंद कर दिया गया। लेकिन जैसे ही पूरी बात सामने आई कुलाधिपति ने आखिरकार उनकी बात सुनी। मॉक टेस्ट के दौरान छात्र लॉग इन करने में विफल हो रहे हैं। साथ ही जो लोग लॉग इन थे के अपने आप लेफ्ट हो जाने से परीक्षा नहीं दे सके। 
विवेक पाटड़िया ने कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा 16 जून को होने वाली परीक्षा के बावजूद बायोटेक्नोलॉजी के छात्रों को आईडी पासवर्ड हॉल टिकट नहीं दिया गया है। सर्वर में खराबी के कारण कई छात्रों को अचानक लेफ्ट हो जाना पड़ा था। जिससे छात्र-छात्राएं पेशपेश में पड़ गई हैं। छात्र आसानी से परीक्षा दे सकें इसके लिए  विश्वविद्यालय की तत्काल प्रभाव से व्यवस्था करना आवश्यक है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें