सूरत : गुजरात पासिंग के वाहनों को महाराष्ट्र में पुलिस द्वारा पेरशन करने का मामला

गुजरात के वाहनों को चेकिंग के बहने परेशान करती महाराष्ट्र पुलिस

सूरत सहित गुजरात के वाहनों को महाराष्ट्र में पुलिस द्वारा ट्राफिक नियमों के नाम पर परेशान किया जा रहा है जिसे लेकर मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे से निवेदन किया गया

सहकारी नेता दर्शन नायक ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को ज्ञापन दिया
 ट्रैफिक नियम लागू करने के नाम पर गुजरात पार्सिंग के वाहनों को महाराष्ट्र पुलिस द्वारा रोकने और परेशान करने के मामले में सूरत जिले के सहकारी एवं किसान नेता दर्शन नायक ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को ज्ञापन देकर गुजरात पासिंग के वाहनो को पुलिस परेशान न करे इस प्रकार की कार्यवाही करने की मांग की है। 
 सूरत जिला सहकारिता नेता दर्शनभाई नायक ने उद्धव ठाकरे को दिए ज्ञापन में कहा कि आप के कुशल नेतृत्व में महाराष्ट्र राज्य विकास के पथ पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि महाराष्ट्र और गुजरात के लोगों के बीच एक विशेष नाता बन गया है। महाराष्ट्र के विकास और गुजरात के विकास में महाराष्ट्र के लोगों ने विशेष योगदान दिया है। महाराष्ट्र और गुजरात के बीच आर्थिक और व्यापारिक संबंध खास हैं।
शिरडी सांई बाबा मंदिर, हाजिअली, श्री महालक्ष्मी मंदिर, श्री सिद्दि विनायक मंदिर सहित महाराष्ट्र के धार्मिक स्थलों की यात्रा करने के लिए गुजरात के अधिकांश लोग अपने निजी वाहनों में यात्रा करते हैं। साथ ही गुजरात से इलाज के लिए और विदेश जाने वाले , मुंबई एयरपोर्ट जाने वाले यात्रियों की संख्या भी काफी ज्यादा है।  गुजरात से महाराष्ट्र के रास्ते में गुजरात राज्य के पार्सिंग वाहनों को महाराष्ट्र पुलिस विभाग द्वारा रोक दिया जाता है और गलत तरीके से परेशान किया जाता है। भले ही ड्राइवरों के पास तमाम तरह के दस्तावेज हों और दिखा दें, लेकिन महाराष्ट्र पुलिस विभाग उन्हें परेशान करने की शिकायत लोगों द्वारा हमे मिल रही है। गुजरात के नागरिकों ने हमेशा यातायात नियमों का पालन किया है। अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि गुजरात के लोगों के हित में गुजरात से महाराष्ट्र आने-जाने वाले गुजरात राज्य के पार्सिंग वाहनों को महाराष्ट्र पुलिस विभाग द्वारा गलत तरीके से परेशान किया जा रहा है। आप महाराष्ट्र पुलिस विभाग से इस संबंध में तत्काल निर्देश दें ताकि गुजरात राज्य के पार्सिंग वाहन गलत तरीके से बाधित न हों। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें