सूरत : 4 साल के बालक को हुआ ब्लैक फंगस, पूरे राज्य में पहला मामला होने की संभावना

प्रतिकात्मक तस्वीर

सिविल और स्मीमेर अस्पताल में अब तक हो चुकी है 450 से भी अधिक सर्जरी

राज्य भर में कोरोना की दूसरी लहर में केस काफी कम हो चुके है। हालांकि कोरोना के बाद ब्लैक फंगस के कई केस सामने आए है, जिसके चलते स्वास्थ्य तंत्र की नींद खराब हो चुकी है। इसी बीच सूरत सिविल अस्पताल में म्यूकरमायकोसिस के इलाज के लिए एक 4 साल के बच्चे को सिविल अस्पताल में भर्ती किया गया था। छोटी सी उम्र में म्यूकरमायकोसिस की बीमारी का शायद यह पहला किस्सा होने की संभावना विकत की जा रही है। 
सिविल अस्पताल के सूत्रों के अनुसार, हर दिन कोरोना के साथ-साथ म्यूकरमायकोसिस के केसों में भी इजाफा हुआ है। सिविल में आज कोरोना के नए 12 मरीज सामने आए थे, जिसमें से 5 पुरुष और 7 महिला थे। इन सभी में एक 14 साल का बालक भी शामिल था। जिसे सिविल अस्पताल में भर्ती किया गया था। हालांकि अभी तक उसका RT-PCR टेस्ट नहीं आया है। 
सूत्रों ने बताया कि कोरोना के साथ-साथ म्यूकरमायकोसिस के केसों में भी इजाफा हो रहा है। शनिवार को एक चार साल के बालक को भी म्यूकरमायकोसिस के रिपोर्ट के साथ अस्पताल में भर्ती किया गया था। बता दे कि नए तीन मरीजों के साथ अब सिविल और स्मिमेर में अब म्यूकरमायकोसिस के 50 मरीज भर्ती है। अब तक दोनों अस्पताल में मिलाकर 491 सर्जरी की जा चुकी है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें