सूरत : नगर निगम की बड़ी पहल, अब से विद्यालयों में पढ़ाया जायेगा कोरोना

प्रतिकात्मक तस्वीर

जन जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से छात्रों को कोरोना के बारे में बुनियादी जानकारी प्रदान करने की योजना

पिछले साल मार्च में कोरोना के भारत आगमन के साथ धीरे धीरे सब कुछ बदल गया। धीरे धीरे सारा जनजीवन परिवर्तित हो गया। पहले लॉकडाउन और फिर न्यू नार्मल ने लोगों को इस बदलाव के साथ जीने को मजबूर कर दिया है। अब हैण्ड सेनिटाईजर और मास्क जीवन का अभिन्न अंग बन चुका है। अब तो ऐसा लगने लगा है कि हमें कोरोना के साथ ही जीना है।
इन सबके बीच सूरत नगर निगम ने अनूठी पहल की है। नगर निगम ने कोरोना को विषय को पाठ्यक्रम में शामिल करने का फैसला किया गया है। इसका उद्देश्य स्कूली बच्चों को कोरोना के बारे में अधिक जानकारी देने और उन्हें सचेत करना है। आपको बता दें कि सूरत नगर निगम ने कोरोना के बारे में जन जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से छात्रों को कोरोना के बारे में बुनियादी जानकारी प्रदान करने की योजना बनाई है। सूत्रों की माने तो वर्तमान में जब माध्यमिक और उच्च माध्यमिक विद्यालय शुरू हो रहे हैं तो छात्रों को कोरोना पर एक पाठ्यक्रम पढ़ाया जाएगा, जिसका उद्देश्य कोरोना के बारे में सभी जानकारी और जागरूकता प्रदान करना है।
ऐसा माना जा रहा है कि यह कोर्स हर स्कूल में लागू किया जाएगा। देश में सबसे पहले सूरत नगर निगमने पहल करते हुए कोरोना की प्रक्रिया को पढ़ाने को अनिवार्य बनाने जा रहा है। अब अगर बात करें अभ्यासक्रम कि तो इस कोरोना कोर्स में कोरोना के प्रकार और लक्षण के साथ साथ, कैसे कोरोना का संक्रमित हो सकता है, कोरोना से बचने के लिए क्या करें, कोरोना में स्टेरॉयड दिए जाने पर क्या दुष्प्रभाव होते हैं, कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए क्या करें आदि विषयों को शामिल किया गया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें